बिहार चुनावः BJP को फ्री कोरोना वैक्सीन वादे पर चुनाव आयोग ने दी क्लीन चिट

Smart News Team, Last updated: Sat, 31st Oct 2020, 9:35 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव के घोषणा पत्र में बीजेपी को फ्री कोरोना वैक्सीन वायदे पर क्ली चिट मिल गई है. आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले ने इस वादे को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत की थी.
चुनाव आयोग ने बीजेपी को फ्री कोरोना वैक्सीन वादे को क्लीन चिट दे दी है.

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में भाजपा के फ्री कोरोना वैक्सीन वादे को चुनाव आयोग ने क्लीन चिट दे दी है. आपको बता दें कि भाजपा के फ्री वैक्सीन वायदे पर आरटीआई कार्यकर्ता साकेत गोखले ने चुनाव आयोग से शिकायत की थी. जिसके बाद चुनाव आयोग ने बीजेपी को क्लीन चिट देते हुए कहा कि ये वादा चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन नहीं है.

चुनाव ने ये जवाब सामाजिक कार्यकर्ता साकेत गोखले की शिकायत के जवाब में दिया है. साकेत गोखले ने 28 अक्टूबर को चुनाव आयोग से शिकायत में कहा था कि फ्री वैक्सीन की घोषणा केन्द्र सरकार की शक्तियों का दुरुपयोग और मतदाताओं को गुमराह करने की कोशिश है. साकेत ने कहा था कि ये वादा ऐसे समय में किया गया है जिस समय वैक्सीन नीति तक तय नहीं की गई है.

बिहार चुनावः चुनावी सभा में CM नीतीश का ऐलान- एजुकेशन लोन माफ कर देगी सरकार

चुनाव आयोग ने फ्री कोरोना वैक्सीन वादे को आचार संहिता का उल्लंघन नहीं माना है. चुनाव आयोग ने साकेत गोखले की शिकायत के जवाब में आदर्श आचार संहिता के तीन प्रावधानों के बारे में बताया है. जिसके मुताबिक घोषणा पत्र में संविधान के प्रतिकूल कोई बात नहीं होनी चाहिए. ऐसे किसी वादे से बचना चाहिए जो चुनावी प्रक्रिया की पवित्रता का उल्लंघन करता हो या मतदाता पर कोई आवांछित प्रभाव डालता हो.

बिहार चुनाव: दीपांकर भट्टाचार्य बोले- 'आगाज़ अच्छा है अंजाम भी बेहतर होगा'

इसके अलावा तीसरा मतदाताओं का विश्वास जीतने के लिए वही वादे किए जाने चाहिए जो पूरे किए जा सकते हों. आपको बता दें कि बीजेपी ने बिहार चुनाव के लिए अपने संकल्प पत्र में बिहार में फ्री कोरोना वैक्सीन देने का वायदा किया है. जिसके बाद विपक्षी दलों ने बीजेपी पर निशाना साधा था और आचार संहिता के उल्लंघन का आरोप लगाया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें