रणदीप सुरजेवाला का हमला, बोले- बिहार की बदहाली के लिए BJP और CM नीतीश जिम्मेदार

Smart News Team, Last updated: Tue, 20th Oct 2020, 7:17 PM IST
  • कांग्रेस महासचिव रणदीप सुरजेवाला ने मंगलवार को  पटना में पत्रकारों को संबोधित करते हुए कहा कि बिहारी की बदहाली के लिए बीजेपी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं. उन्होंने कहा कि जो सियाराम के नहीं, वो किसी काम के नहीं.
काग्रेस महासचिव ने पत्रकारों से कहा कि बिहार की खराब हालते के लिए बीजेपी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं.

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण की वोटिंग में कुछ दिन ही बाकी हैं. इसी बीच कांग्रेस के महासिचव और प्रमुख प्रमुख रणदीप सिंह सुरजेवाला ने बीजेपी और जदयू पर निशाना साधते हुए कहा कि बिहार की बदहाली के लिए भाजपा और नीतीश कुमार जिम्मेदार हैं. मंगलवार को पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सवा लाख करोड़ के पैकेज को जुमला बताया.

मंगजवार को कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पटना के स्थानीय होटल में प्रेस काॅन्फ्रेंस की. पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने कहा कि 5 साल में सवा लाख करोड़ के पैकेज में सिर्फ 15.59 करोड़ रुपए का ही काम हुआ है और केन्द्रीय गृह मंत्री अमित शाह कहते हैं बिहार की तरक्की सवा लाख करोड़ के पैकेज से हुई है.

चिराग पासवान ने LJP कार्यकर्ताओं से की PM मोदी के संबोधन को सुनने की अपील

कांग्रेस महासचिव ने पीएम मोदी के पैकेज की जानकारी देते हुए कहा कि 54 हजार 713 करोड़ रुपए राष्ट्रीय राजमार्ग, गंगा-सोन और कोसी नदी पर पुल निर्माण और 12 रेलवे ओवर ब्रिज के निर्माण पर खर्च किया जाना था. उन्होंने कहा कि सड़क परिवहन मंत्रालय के अनुसार 44 राष्ट्रीय राजमार्गों का निर्माण होना था लेकिन 5 साल में 27 काम तो पूरे नहीं हुए और 17 परियोजनाओं का तो अभी तक डीपीआर भी नहीं बना है.

हाईकोर्ट में वीडियो कान्फ्रेंसिंग से ही होगी सुनवाई, याचिका पर सुनवाई 25 नवंबर को

कांग्रेसी नेता रणदीप सुरजेवाला ने एनडीए सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि भागलपुर में 500 करोड़ से केन्द्रीय विश्वविद्यालय और बिहार में कौशल विकास विश्वविद्यालय के नाम पर झूठ परोसा गया है. उन्होंने कहा कि जो सियाराम के नहीं, वो किसी काम के नहीं. आपको बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव में कांग्रेस महागठबंधन से 70 सीटों पर चुनाव लड़ रही है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें