बिहार विधानसभा चुनाव: सर्विस वोटरों को मोबाइल पर बैलेट सुविधा, डाक का झंझट खत्म

Smart News Team, Last updated: 23/09/2020 11:56 AM IST
  • इस बार के बिहार विधानसभा चुनाव में चुनाव आयोग बिहार के डेढ़ लाख से अधिक सर्विस वोटरों को मोबाइल ऐप के माध्यम बैलेट पेपर उपल्बध कराने की योजना बना रहा है. इससे डाक से आने वाले बैलेट पेपर का झंझट खत्म हो जाएगा.
बिहार विधानसभा चुनाव: सर्विस वोटरों को मोबाइल पर बैलेट सुविधा, डाक का झंझट खत्म

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव के लेकर चुनाव आयोग बिहार के डेढ़ लाख से अधिक सर्विस वोटरों के लिए मतदान की नई व्यवस्था में जुटा है. इन वोटरों के लिए इलेक्ट्रॉनिकली ट्रांसमिटेड पोस्टल बैलेट मैनेजमेंट सिस्टम की शुरुआत की जा रही है. इससे रजिस्टर्ड सर्विस वोटरों को उनका बैलेट पेपर मनचाहे जगह पर मोबाइल एप के माध्यम से मिल जाएगा. वहां वे बैलेट प्रिंट करा कर अपने मनपसंद प्रत्याशी को वोट देकर बैलेट निर्वाची पदाधिकारी को भेज सकेंगे. अब अलग-अलग विधानसभा क्षेत्र के सर्विस वोटरों को मतदान के लिए डाक विभाग से बैलेट मिलने का इंतजार नहीं करना पड़ेगा.

फिलहाल राज्य में ऐसे 16 हजार 422 वोटर इसके लिए चिह्नित हैं. इन वोटरों को आयोग ईटीपीबीएस के तहत रजिस्टर्ड करेगा और उनका बैलेट पेपर ऑनलाइन मोबाइल के जरिए उपलब्ध कराएगा. इससे पहले सर्विस वोटरों को डाक से बैलेट पेपर मिलने में देर हो जाती थी. कभी-कभी नाम पते में गलती हो जाने से वोटरों को बैलेट पेपर मिल ही नहीं पाता था.

बिहार चुनाव लड़ने वाले दावेदारों की भीड़ उमड़ी, CM नीतीश ने सभी को सुना 5 घंटे

चुनाव आयोग के इस कदम को जानकार ऑनलाइन वोटिंग की दिशा में उठाया गया पहला कदम कदम बता रहे हैं. हालांकि इन कदमों को देखते हुए यह कहना अभी जल्दबाजी होगी कि चुनाव आयेाग ऑनलाइन वोटिंग की तैयारी कर रहा है. संभव है छोटे स्तर पर सर्विस वोटरों के लिए यह सुविधा लागू होने के बाद भविष्य में इसका दायरा बढ़ाया जाए. फिलहाल चुनाव आयोग के सहायक आयुक्त सक्षम कुमार ने इस संबंध में अभी राज्य निर्वाचन आयोग से फीडबैक मांगा है. उन्होंने मोबाइल के जरिए पोस्टल बैलेट के उपयोग की प्रक्रिया तय करते हुए कहा है कि अगर इसमें कहीं किसी सुधार या संशोधन की गुंजाइश हो तो जल्द चुनाव आयोग को अवगत करायें. ताकि चुनाव से पहले इसकी प्रक्रिया दुरुस्त कर ली जाये.

बिहार चुनाव: डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय का वीआरएस, एसके सिंघल नए पुलिस महानिदेशक

 

 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें