बिहार में वोटों की गिनती और चुनावी नतीजों से पहले EVM पर पार्टियों का पहरा

Smart News Team, Last updated: Sun, 8th Nov 2020, 2:23 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के वोटिंग के बाद स्ट्रांग रूम में रखे ईवीएम की निगरानी 24 घंटे प्रशासन के साथ प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों के द्वारा भी की जा रही है. 10 नवंबर को वोटों की गिनती होगी. 
पार्टी व प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों के द्वारा पटना के एन कॉलेज में स्ट्रांग रूम की निगरानी रखी जा रही है.

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के वोटिंग के बाद अब सबकी नजर रिजल्ट पर टिकी हुई हैं. इसी के साथ स्ट्रांग रूम में बंद ईवीएम पर बिहार में हर राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों की नजर बनी हुई हैं. पार्टियों के विशेष कार्यकर्ताओं को इस काम के लिए तैनात किया गया है. निगरानी वाले लोगों की जिम्मेदारी है कि स्ट्रांग रूम में कौन आ रहा और कौन बाहर जा रहा है. इस पर नजर बनाए रखें हैं. किसी तरह की गड़बड़ी होने की सूचना पर पार्टी के आलाकमान को दें. 

पार्टी की तरफ से पांच से सात लोगों की तैनाती स्ट्रांग रूम के इर्द-गिर्द की गई है. निगरानी रखने वाले लोग रात भर जाग कर निगरानी कर रहे हैं. शिफ्टों में राजनीतिक दल के लोग निगरानी कर रहे हैं. 

बिहार चुनाव: कांग्रेस की दिल्ली टीम पर जीत का सेहरा सजेगा या हार का ठीकरा फूटेगा

जिला प्रशासन की तरफ से राजनीतिक दल के प्रतिनिधियों को स्ट्रांग रूम के पास में ही एक पंडाल लगाकर जरूरी सुविधाएं दी गई है. इन लोगों के प्रवेश के लिए प्रशासन की तरफ से पास जारी किया गया है. स्ट्रांग रूम में लगे सीसीटीवी कैमरों की निगरानी के लिए एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था की गई है. जिसकी जरिए राजनीतिक दल के लोग स्ट्रांग रूम के मेन गेट समेत सभी गतिविधियों पर 24 घंटे नजर रखे हुए है. 

एग्जिट पोल में बिहार में तेजस्वी यादव की बहार, पीछे रह गए नीतीश कुमार

बता दें कि मतदान केंद्र पर वोटिंग हो जाने के बाद ईवीएम मशीन को स्ट्रांग रूम में जमा करना होता हैं. अब ये ईवीएम मशीनें 10 नवंबर को वोटिंग के दिन बाहर आएंगी. तब तक के लिए प्रशासन की तरफ से राजनीतिक दल या प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों को स्ट्रांग रूम की निगरानी के लिए मौका देता है. स्ट्रांग रूम में ईवीएम जमा होने के बाद लॉक किया जाता है जिसपर प्रत्याशियों के प्रतिनिधियों के द्वारा भी सील लगाया जाता हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें