पटना

प्रशांत किशोर भी नहीं चाहते कोरोना काल में चुनाव, कहा-ये कोविड से लड़ने का वक्त

Smart News Team, Last updated: 11/07/2020 04:12 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव को टालने के लिए अब चारों ओर से आवाजें बुलंद हो रही हैं।तेजस्वी यादव, चिराग पासवान के बाद अब चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी कोरोना काल में चुनाव कराने के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं।
Prashant Kishor (File Photo)

बिहार विधानसभा चुनाव को टालने के लिए अब चारों ओर से आवाजें बुलंद हो रही हैं।तेजस्वी यादव, चिराग पासवान के बाद अब चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर भी कोरोना काल में चुनाव कराने के पक्ष में नहीं दिख रहे हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर परोक्ष तौर पर हमला बोलते हुए प्रशांत किशोर ने कहा है कि बिहार में कोरोना से स्थिति बिगड़ती जा रही है और सरकार चुनाव कराने में लगी हुई है। जबकि यह चुनाव नहीं, बल्कि करोना से लड़ने का वक़्त है।

पटना: जब राजधानी में रहस्यमय तरीके से अचानक गायब हुए चार बच्चे, मच गया हड़कंप

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने शनिवार को ट्वीट किया, 'देश के कई राज्यों की तरह बिहार में भी करोना की स्थिति बिगड़ती जा रही है, लेकिन सरकारी तंत्र और संसाधनों का एक बड़ा हिस्सा चुनाव की तैयारियों में लगा है। नीतीश कुमार जी ये चुनाव नहीं, करोना से लड़ने का वक़्त है। लोगों की जिंदगी को चुनाव कराने की जल्दी में खतरे में मत डालिए।'

दरअसल, इससे पहले राजद नेता तेजस्वी यादव और लोजपा प्रमुख चिरागा पासवान भी चुनाव टालने के पक्ष में बयान दे चुके हैं। लोजपा प्रमुख चिराग पासवान ने शुक्रवार को ट्वीट कर कोरोना काल में चुनाव न कराने की चुनाव आयोग से अपील की।

उन्होंने कहा 'कोरोना के प्रकोप से बिहार ही नहीं पूरा देश प्रभावित है। कोरोना के कारण आम आदमी के साथ साथ केंद्र व बिहार सरकार का आर्थिक बजट भी प्रभावित हुआ है। ऐसे में चुनाव से प्रदेश पर अतिरिक्त आर्थिक बोझ पड़ेगा। संसदीय बोर्ड के सभी सदस्यों ने इस विषय पर चिंता जताई है। चुनाव आयोग को भी इस विषय पर सोच कर निर्णय लेना चाहिए। कहीं ऐसा ना हो कि चुनाव के कारण एक बड़ी आबादी को ख़तरे में झोंक दिया जाए। इस महामारी के बीच चुनाव होने पर पोलिंग पर्सेंटेज भी काफ़ी नीचे रह सकते हैं, जो लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है।'

तेजस्वी को मिला चिराग का साथ, RJD के बाद LJP भी कोरोना काल में नहीं चाहती चुनाव

बीते दिनों राजद नेता और विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने भी चुनाव को टालने की वकालत की थी। तेजस्वी ने कहा कि कोरोना की वजह से फिलहाल चुनाव कराना सही फैसला नहीं होगा। उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर आरोप लगाते हुए कहा था कि सरकार चुनाव की तैयारी में जुटी है, मगर लाशों के ढेर पर चुनाव कराना ठीक नहीं है। तेजस्वी ने कहा था कि बिहार के लोग कोरोना से मर रहे हैं, मगर पता नहीं नीतीश कुमार को किस बात की जल्दबाजी है कि वह बिहार में चुनाव करवाना चाहते हैं।

अन्य खबरें