तेजस्वी यादव की चुनावी सभा में पुलिस ने भीड़ पर चटकाई लाठियां, अफरा-तफरी मची

Smart News Team, Last updated: 25/10/2020 01:12 PM IST
  • बिहार चुनाव के लिए तेजस्वी यादव ने विजयदशमी के दिन लखीसराय में सभा की जहां भीड़ के बेकाबू होने पर पुलिस ने जमकर लाठियां चलाईं. सभा में अफरा-तफरी का माहौल होने पर पुलिस ने भीड़ पर काबू किया.
तेजस्वी यादव की चुनावी सभा में पुलिस ने लाठियां चलाईं

लखीसराय. बिहार विधानसभा चुनाव के लिए आरजेडी नेता तेजस्वी यादव की रैली में पुलिस ने बेकाबू भीड़ पर लाठियां चटकाईं. जिससे सभा में अफरा-तफरी का माहौल हो गया. भीड़ को काबू में करने के बाद कार्यक्रम पूरा किया जा सका.

तेजस्वी यादव की चुनावी सभा खत्म होने पर वह अपने हेलीकॉप्टर की तरफ जाने लगे तो उनकी एक झलक पाने के लिए बेकाबू भीड़ ने बैरिकेटिंग तोड़ दिया और प्रतिबंधित एरिया में आने की कोशिश की. भीड़ को समेटने के लिए अर्धसैनिक बल को लाठियां चलानी पड़ी. अर्धसैनिक बल ने काफी मशक्कत के बाद भीड़ पर काबू पाया. भीड़ पर लाठियां चलने के दौरान सभा मैदान में अफरा-तफरी का माहौल हो गया.

सभा में महागठबंधन के लखीसराय विधानसबा से कांग्रेस के प्रत्याशी अमरेश कुमार और सूर्यगढ़ा से राजद प्रत्याशी प्रह्लाद यादव मंच पर तेजस्वी यादव के साथ मौजूद थे. तेजस्वी ने सभी को जीताने की अपील की है. 

तेजस्वी यादव की चुनावी सभा में भीड़ पर काबू करने के लिए पुलिस ने लाठियां चलाईं.
तेजस्वी यादव को देखने के लिए उमड़ी भीड़ पर अर्धसैनिक बल ने लाठियां बरसाईं

बिहार चुनाव: सुशील मोदी बोले- लालू अंधविश्वासी, मुझे मारने को करा चुके तंत्र-मंत

तेजस्वी यादव ने बिहार सरकार और नीतीश कुमार पर जमकर निशाना साधते हुए बोला कि विजयदशमी पर संकल्प लें कि नीतीश सरकार के भ्रष्टाचार रूपी रावण को समाप्त करने के लिए महागठबंधन को वोट किया जाए. तेजस्वी ने कहा कि नीतीश जी 15 साल से बिहार के मुख्यमंत्री हैं. 15 सालों में उन्होनें नौजवानों, किसान और बिहार की जनता के लिए कुछ नहीं किया और अब वह फिर पांच साल मांग रहे हैं. 

बिहार चुनाव में विधानसभा प्रत्याशी की गोली मारकर हत्या, हमलावर की भी मौत

तेजस्वी यादव ने नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि जो सरकार और मुख्यमंत्री 15 सालों में जनता के लिए कुछ नहीं कर पाया वह अगले पांच साल में क्या करेंगे. नीतीश ने बिहार की जनता को धोखा दिया है और वह अब फिर सीएम चुने गए तो फिर कुछ नहीं करेंगे.  

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें