बिहार चुनाव : BJP- JDU में 50-50 सीटों पर बनी बात, LJP पर संदेह बरकरार

Smart News Team, Last updated: 04/10/2020 02:35 PM IST
  • बीजेपी और जेडीयू में 50-50 पर बात बनी है. बताया जा रहा है कि 243 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए नीतीश कुमार की पार्टी 122 सीटों पर जबकि बीजेपी 121 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी.
BJP- JDU में 50-50 सीटों पर बनी बात

शनिवार को पटना में बीजेपी और जनता दल (यूनाइटेड) के नेताओं के बीच चार घंटे के विचार-विमर्श के बाद सीट बंटवारे को लेकर सहमति लगभग तय है. हालांकि एलजेपी की स्थिति पर अब भी सस्पेंस जारी है. सूत्रों के मुताबिक बीजेपी और जेडीयू में 50-50 पर बात बनी है. बताया जा रहा है कि 243 सदस्यों वाली विधानसभा के लिए नीतीश कुमार की पार्टी 122 सीटों पर जबकि बीजेपी 121 सीटों पर उम्मीदवार उतारेगी. जेडीयू अपने खाते से जीतनराम मांझी की हम को सीटें देगी, जबकि बीजेपी अपने कोटे से लोजपा को टिकट देगी.

बीजेपी के दो बिहार प्रभारी महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस और राज्यसभा सांसद भूपेंद्र यादव नई दिल्ली में रविवार को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में पार्टी अध्यक्ष को इस बारे में अवगत कराएंगे. सभी संभावना के बीच एनडीए के भागीदार सभी चुनाव लड़ेंगे. बीजेपी रविवार की देर शाम तक अपनी सूची जारी कर सकती है.

बिहार महागठबंधन डील: RJD 135 कांग्रेस 70 माले 19 CPI- CPM 10 VIP 9 सीट लड़ेगी !

एनडीए की बैठक में बीजेपी का प्रतिनिधित्व फडणवीस और यादव के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल, डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी और संगठनात्मक सचिव नागेंद्र जी किया. वहीं जदयू का प्रतिनिधित्व सांसद राज रंजन उर्फ ​​लल्लन सिंह और आरसीपी सिंह, स्पीकर विजय कुमार चौधरी और मंत्री बिजेंद्र प्रसाद यादव ने किया था. हालांकि लोक जन शक्ति पार्टी (LJP) का राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में तीसरे साथी के रूप में मौजूदगी पर संदेह बरकरार है. लोजपा ने एनडीए से अलग होकर लड़ने की ओर इशारा किया है.

जदयू के एक नेता ने कहा कि गठबंधन के साझेडारों के साथ सीट-बंटवारे को लेकर आखिरी समय में तकरार तेज हो गई है. इसकी वजह से लगभग एक दर्जन से अधिक सीटों के बंटवारे का काम अटका पड़ा हुआ है. इनमें राजद के गढ़ माने जाने वाली अधिकतर सीटें शामिल हैं.

VIP अध्यक्ष मुकेश साहनी ने कहा NDA के अति पिछड़ों के खिलाफ नहीं देंगे प्रत्याशी

एलजेपी ने अपनी पसंद की सीटों के साथ-साथ जदयू और बीजेपी का गढ़ माने जाने वाली कुछ सीटों की भी मांग की है.

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि लोजपा जिद्दी है,  हम दिल्ली में उनकी बैठक के परिणाम की प्रतीक्षा कर रहे हैं. वहीं जदयू के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पार्टी का गठबंधन केवल बीजेपी के साथ है यह बीजेपी को तय करना है कि वह एलजेपी (LJP) को कितनी सीटें देना चाहती है. यह उनका आंतरिक मामला है. जहां तक ​​जदयू का संबंध है हम मांझी की हम (HAM) को समायोजित कर रहे हैं.

LJP का JDU पर भ्रष्टाचार अटैक, क्या NDA में रहकर नीतीश JDU से लड़ेंगे पासवान ?

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें