पटना

बिहार में महामुकाबला आज, शाह - नीतीश फूकेंगे चुनावी बिगुल, तेजस्वी बजाएंगे थाली

Smart News Team, Last updated: 07/06/2020 10:11 AM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव के लिहाज से आज यानी रविवार का दिन महामुकाबले का दिन है। आज केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह बिहार में कोरोना काल में पहली बार वर्चुअल रैली करेंगे, वहीं नीतीश कुमार भी पांच जिलों के कार्यकर्ताओं से वर्चुअली रूबरू होंगे। इन दोनों के अलावा, तेजस्वी यादव इसके खिलाफ में थाली पीटेंगे।
बिहार में कल 'महामुकाबले' का आगाज, अमित शाह-नीतीश फुकेंगे चुनावी बिगुल, खिलाफ में तेजस्वी बजाएंगे थाली

बिहार में इस साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राजधानी पटना में सियासी हलचल तेज हो गई है। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन है और मगर कोरोना काल में राजनीतिक पार्टियों ने रैली के आयोजन का डिजिटल तरीका ढूंढ निकाला है, जिसका आगाज आज यानी 7 जून को भाजपा और जदयू करने करने जा रही है। कोरोना काल में पहली बार आज बिहार विधानसभा चुनाव के लिहाज से बीजेपी, जेडीयू और आरजेडी के बीच महामुकाबला है। बिहार चुनाव के मद्देनजर आज शुरू होने वाले महामुकाबले में बीजेपी के लिए केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह चुनावी बिगुल फूकेंगेे, वहीं जदयू के लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार।

रविवार को जहां बिहार के मुख्यमंत्री और जनता दल यूनाइटेड के मुखिया नीतीश कुमार उत्तर बिहार के 5 जिलों के बूथ लेवल तक पार्टी कार्यकर्ताओं से वीडियो और ऑडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात करेंगे। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शाम चार बजे हर स्तर के बीजेपी कार्यकर्ताओं से जुड़ेंगे और चुनाव के मद्देनजर संवाद करेंगे। इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह पहले 9 जून को वर्चुअल रैली के जरिए बिहार को संबोधित करने वाले थे, मगर अब ये कार्यक्रम 7 जून को रखा गया है।

शाम चार बजे अमित शाह फुकेंगे चुनावी बिगुल

भाजपा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष और गृह मंत्री अमित शाह की पहली वर्चुअल रैली आज होगी। शाम चार बजे से शुरू होने वाली इस वर्चुअल रैली को पार्टी ने ‘बिहार जनसंवाद कार्यक्रम’ का नाम दिया है। भाजपा का दावा है कि देश में पहली बार किसी राजनीतिक पार्टी द्वारा इस तरह की डिजिटल रैली हो रही है। इस वर्चुअल रैली को बिहार में होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देजनर भाजपा द्वारा कार्यकर्ताओं से संपर्क साधने की विधिवत शुरुआत भी माना जा रहा है।

बिहार चुनाव के लिए काफी अहम है यह शंखनाद

बिहार में होने वाले चुनाव के लिहाज से इस वर्चुअल रैली को काफी अहम माना जा रहा है। हालांकि पार्टी नेताओं का कहना है कि अमित शाह मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक साल पूरा होने पर केंद्र सरकार की उपलब्धियों पर विस्तार से अपनी बात रखेंगे। इस डिजिटल रैली को सफल बनाने के लिए पार्टी के दो राष्ट्रीय नेता बिहार भाजपा प्रभारी भूपेन्द्र यादव और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री बीएल संतोष ने खुद पटना आकर इसकी तैयारियों का जायजा लिया। शुक्रवार को भूपेंद्र यादव ने बीजेपी कार्यकर्ताओं से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की और अमित शाह की वर्चुअल रैली को चुनावी मुनादी के रूप में लेने को कहा।

पांच जिलों के कार्यकर्ताओं को नीतीश करेंगे संबोधित

नीतीश कुमार आज यानी 7 जून से 6 दिन चलने वाले वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की शुरुआत करेंगे जिसके जरिए वो 38 जिलों के कार्यकर्ताओं से रूबरू होंगे। नीतीश कुमार के वर्चुअल रैली की शुरुआत आज यानी 7 जून को पश्चिमी चंपारण से शुरू होगी और मधुबनी में खत्म होगी। नीतीश कुमार पश्चिम चंपारण में आज सुबह 11 बजे, पूर्वी चंपारण में दोपहर 12 बजे, शिवहर और सीतामढ़ी में शाम 4 बजे और मधुबनी में शाम पांच बजे रैली को संबोधित करेंगे।

तेजस्वी मनाएंगे गरीब अधिकार दिवस

वहीं, आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने आज यानी  7 जून को गृहमंत्री अमित शाह की बिहार वर्चुअल रैली और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जेडीयू कार्यकर्ताओं के साथ बूथ लेवल वर्चुअल मीटिंग की शुरुआत के दिन राजद की तरफ से गरीब अधिकार दिवस मनाने का ऐलान किया है, जिसमें सुबह 11 बजे 11 मिनट के लिए पार्टी दफ्तर के बाहर थाली बजाकर बताया जाएगा कि गरीबों की थाली खाली है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी ने कहा कि भाजपा ‘वर्चुअल’ रैली के ढोंग से ‘एक्चुअल’ सच्चाई को छिपाना चाहती है। किसान और मजदूर भूखे मर रहे हैं। गरीबों की थाली खाली है। सरकार को इसकी चिंता नहीं है। सत्ता पाने के लिए चुनावी राजनीति में जुटी हुई है। इस असंवेदनहीनता के प्रतिकार में 7 जून को गरीबों, मजदूरों, और किसानों के अधिकार के लिए थाली-कटोरा बजाकर सरकार को जगाएं।

अन्य खबरें