BJP पूर्व विधायक ने मिलाया चिराग पासवान से हाथ, LJP में शामिल उषा विद्यार्थी

Smart News Team, Last updated: 07/10/2020 01:24 PM IST
  •  बिहार विधानसभा चुनाव के लिए बीजेपी पूर्व विधायक और वरिष्ठ नेत्री ने उषा विद्यार्थी लोजपा में शामिल हुईं. विधानसभा चुनाव 2020 में पालीगंज से विधायक चुनी गईं थी. 2020 चुनाव में पालीगंज की सीट जेडीयू के खाते में जाने के बाद चिराग पासवान से हाथ मिलाया.
BJP पूर्व विधायक ने मिलाया चिराग पासवान से हाथ, LJP में शामिल उषा विद्यार्थी

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के ठीक पहले बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री उषा विद्यार्थी लोजपा में शामिल हो गई हैं. विधानसभा चुनाव के लिए राजनीतिक दलों के गठबंधन में सीट बंटवारे को लेकर उठा-पटक शुरू हो गई है. बुधवार को लोजपा में शामिल हुई उषा विद्यार्थी ने बताया कि बिहार को आगे ले जाने के लिए कठोर फैसलों की जरूरत है और जनता की भावनाओं का ध्यान रखने के लिए यह निर्णय लेना पड़ा. 

लोजपा प्रमुख चिराग पासवान का बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट के विचार के बाद उन्होनें लोजपा में शामिल होने का निर्णय लिया.

उषा विद्यार्थी साल 2010 के विधानसभा चुनावों में पालीगंज से निर्वाचित हुई थीं. इस बार पालीगंज की सीट जेडीयू को दिए जाने से शायद वह नाराज थीं जिसके बाद उन्होनें लोजपा से चुनाव लड़ने का फैसला लिया. बता दें कि पालीगंज की सीट आरजेडी से जेडीयू में शामिल हुए विधायक को 2020 विधानसभा चुनाव के लिए दी गई है. 

बिहार चुनाव: बीजेपी ने 27 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट जारी की, किसे कहां से टिकट

बिहार चुनाव की तारीख घोषित होने से पहले ही बीजेपी की पूर्व विधायक और महिला आयोग की सदस्य उषा विद्यार्थी ने कहा था कि पालीगंज की सीट से अगर उनके खिलाफ जेडीयू के उम्मीदवार को उतारा जाता है तो वह पार्टी को छोड़ निर्दलीय चुनाव लड़ेंगी. एनडीए के गठबंधन में आई दरार का परिणाम है कि बीजेपी की विधायक लोजपा में शामिल हो गईं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें