रघुवंश प्रसाद के निधन के बाद भी उनका अपमान कर रही राजद: भाजपा

Smart News Team, Last updated: 16/09/2020 03:06 PM IST
  • भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने तेजस्वी यादव और तेजप्रताप के लिए कहा है कि राजद के युवराजों के अहंकार के सामने पार्टी के समर्पित नेताओं की इज्जत नहीं की जाती है. राजद में वंशवादी व्यवस्था स्थापित हो चुकी है.
फोटो में लालू प्रसाद यादव और राबड़ी देवी के साथ रघुवंश सिंह

पटना. बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर अब सरगर्मी बढ़ने लगी है जिसे लेकर अब तमाम नेता एक-दूसरे पर टीका- टिप्पणी करते देखे जा रहे हैं. इसी बीच भाजपा ने स्व. रघुवंश प्रसाद का नाम लेते हुए राजद पर निशाना साधा है. भाजपा नेता अपने बयानों में कह रहे हैं कि राजद पार्टी के नेताओं में अहंकार भर गया हैं इसलिए वरिष्ट नेताओं की इज्जत नहीं की जा रही. साथ ही आरोप लगाया कि पार्टी में अब वंशवादी व्यवस्था बन चुकी और इसके नेता अपनी जागीर समझ बैठे हैं.

भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष राजीव रंजन ने कहा है कि राजद के युवराजों के अहंकार के सामने पार्टी के समर्पित नेताओं की कितनी इज्जत की जाती है इसका अनुमान रघुवंश बाबू के साथ किये जा रहे व्यवहार से पता चलता है. जब वो जीवित थे तो उन्हें जीते एक लोटा पानी के समान बताया गया और निधन के बाद भी उन्हें अपमानित करने से बाज नहीं आ रहे हैं. इससे पहले भी उनपर काफी टिप्पणीयाँ की गई हैं.

तेजस्वी यादव ने CM नीतीश से पूछे 17 सवाल, कहा- युवा देंगे चुनाव में करारा जवाब

उन्होंने रघुवंश बाबू की चिट्ठी को फर्ज़ी बताते हुए तेजस्वी यादव और तेजप्रताप पर निशान साधा और कहा कि यह उनको पार्टी से हटाने साजिश थी. रघुवंश बाबू के साथ जो अन्याय किया गया उसका कारण राजद में वंशवादी व्यवस्था है। तेजस्वी की मर्जी के पत्ता तक नहीं खड़कता ऐसे में कोई नेता रघुवंश बाबू के खिलाफ ऐसी ओछी बयानबाजी करे यह संभव नही है. इन दोनों युवराजों के दिल में पार्टी अपना जीवन खपाने वाले नेताओं के लिए कोई सम्मान नहीं है.

पटना: चुनाव आयोग का निर्देश, चुनावी बैठकों में नहीं शामिल होंगे 100 से अधिक लोग

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें