बिहार चुनाव: महागठबंधन की सीट बंटवारे का फंसा पेंच, वाम दलों के लिए माथा-पच्ची

Smart News Team, Last updated: Mon, 28th Sep 2020, 12:35 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में महागठबंधन की सीट बंटवारे को लेकर आरजेडी का खाका वाम दलों को पसंद नहीं आ रहा है. माले 20 से कम सीटों पर बात करने को तैयार नहीं है. वहीं सीपीआई भी अपने हिस्से की सीट पर अड़ी है.
बिहार चुनाव: महागठबंधन की सीट बंटवारे का फंसा पेंच, वाम दलों के लिए माथा-पच्ची

पटना. बिहार विधानसभा चुनाव 2020 की तारीख घोषित होने के बाद से राजनीतिक पार्टियों में सीटों को लेकर चर्चा शुरू हो गई है. महागठबंधन सीट बंटवारे में वाम दलों की सीटों का पेंच फंस गया है. आरजेडी ने सीटों के बंटवारे को जो खाका तैयार किया है उसमें वाम पार्टियों के मनमुताबिक सीटें नहीं है. वहीं रालोसपा ने अभी महागठबंधन छोड़ने का ऐलान नहीं किया है.

चुनाव नजदीक आते ही राकांपा ने भी अपनी मांगे रख दी हैं. महागठबंधन दो दिनों में सीटों का एडजस्ट करके इस महीने के आखिरी तक संख्या का ऐलान करेगा. आरजेडी ने सीटों का जो स्वरुप बनाया है उसके अनुसार वह 150 सीटों से कम पर लड़ने को तैयार नहीं है. वहीं कांग्रेस को अभी तक 65 से 70 सीटें देने पर विचार किया जा रहा है. वहीं अगर रालोसपा बाहर नहीं होती है तो कांग्रेस को अपनी सीटों की संख्या घटाकर रालोसपा को देनी होंगी. 

LJD का फैसला- महागठबंधन में लड़ेंगे चुनाव, JDU में शामिल होने की बात केवल अफवाह

वहीं वाम पार्टियों के सींट बंटवारे पर पेंच फंस गया है. माले को आरजेडी 12 सीटें देने को तैयार है लेकिन आरजेडी ने पहले उम्मीदवारों की लिस्ट मांगी है. वहीं माले 20 से कम सीटों पर बात करने को तैयार नही हैं. इसी के साथ सीपीएम के लिए आरजेडी ने दो सीटें छोड़ी हैं लेकिन सीपीएम ने पांच सीटों की मांग रखी है. आरजेडी ने इसपर कहा है कि पांच सीटों में जो मिलेगी वहां समझौता होगा और बाकी पर दोस्ताना टक्कर करेंगे. 

पटना: विधानसभा चुनाव के लिए कड़ी होगी सुरक्षा, 300 कंपनियां पहुंचेंगी बिहार

आरजेडी ने वाम दलों के लिए 20 सीटें रखी हैं. दोनों दलों का मामला इन्हीं में तय हो पाता है या नहीं इसका कठिन फैसला आरजेडी को लेना है. मिली जानकारी के अनुसार 30 सितंबर तक महागठबंधन की सीटों का ऐलान हो सकता है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें