नीतीश, तेजस्वी, कुशवाहा के बाद पप्पू यादव बने चौथे मोर्चे के CM कैंडिडेट

Smart News Team, Last updated: 14/10/2020 06:36 PM IST
  • बिहार में प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन (पीडीए) के सीएम पद के उम्मीदवार जाप प्रमुख राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव होंगे.
नीतीश, तेजस्वी, कुशवाहा के बाद पप्पू यादव बने चौथे मोर्चे के CM कैंडिडेट

पटना. बिहार में प्रगतिशील लोकतांत्रिक गठबंधन ( पीडीए) के सीएम पद के उम्मीदवार जाप प्रमुख राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव होंगे. पीडीए में शामिल एसडीपीआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष एम के फैजी, आजाद समाज पार्टी चीफ चंद्रशेखर आजाद और दूसरे घटक दलों के नेताओं ने एक संयुक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में यह घोषणा की है. पप्पू यादव ने दावा करते हुए कहा कि उनकी सरकार बनने के तीन महीने के भीतर लोकपाल लाएँगे और CM दफ़्तर भी लोकपाल के अंतर्गत आएगा। अगर ऐसा नहीं कर पाए तो इस्तीफ़ा दे देंगे। उन्होंने राज्य से crime ख़त्म करने का भी वादा किया है।

गौरतलब है कि जाप प्रमुख राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव ने भी चौथे मोर्चे से सीएम पद की दावेदारी ठोक दी है. इनके अलावा एनडीए के नीतीश कुमार, महागठबंधन के तेजस्वी यादव और ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट से रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा भी अपने-अपने दलों से मुख्यमंत्री कैंडिडेट घोषित किए जा चुके हैं.

बिहार चुनाव: उपेंद्र कुशवाहा और ओवैसी ने बनाया ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट

मालूम हो कि इस बार बिहार में विधानसभा चुनाव दिलचस्प होने जा रहा है. राज्य में मुख्य एनडीए और महागठबंधन के साथ-साथ पप्पू यादव का जेडीए और उपेंद्र कुशवाहा का ग्रैंड डेमोक्रेटिक सेक्युलर फ्रंट भी शामिल है.

एनडीए में सीएम नीतीश कुमार की जेडीयू, सुशील मोदी की भारतीय जनता पार्टी, जीतनराम मांझी की हम और मुकेश सहनी की वीआईपी शामिल है. वहीं महागठबंधन में तेजस्वी यादव की राजद, कांग्रेस, माले समेत कई स्थानीय पार्टी शामिल हैं. 

दूसरी ओर महागठबंधन से नाराज होकर अलग हुए उपेंद्र कुशवाहा के गठबंधन में मायावती की बसपा, औवेसी की एआईएमआईएम, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी, समाजवादी जनता दल(डेमोक्रेटिक) और जनतांत्रिक पार्टी(सोशलिस्ट) शामिल हैं.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें