बिहार बोर्ड की पहली से 12वीं क्लास की सभी किताबें डिजिटल, ई-लाईब्रेरी बनकर तैयार

Smart News Team, Last updated: Mon, 12th Apr 2021, 11:55 AM IST
  • बिहार बोर्ड की 9वीं से लेकर 12वीं के सिलेबस के साथ पहली क्लास से लेकर आठवीं तक की सारी किताबें ई-लाईब्रेरी में मिलेंगी. साथ ही हर विषय के हर चैप्टर की रेफरेंस वीडियो भी होगी जिससे छात्रों को समझने में मदद मिले.
ई-लाईब्रेरी में मिलेंगी बिहार बोर्ड की पहली क्लास से 12वीं तक की किताबें.

पटना. बिहार देश का पहला ऐसा राज्य बनने जा रहा हो जिसने टेक्स्ट बुक के लिए ई-लाईब्रेरी तैयार की है. इस ई-लाईब्रेरी में पहली क्लास से लेकर 12वीं तक की किताबों के अलावा हर चैप्टर के साथ वीडियो भी रहेगा. इसी के साथ यू-ट्यूब पर उन सभी विषयों के चैप्टर के लिंक भी रहेंगे जिससे बच्चे अच्छे से किसी टॉपिक को समझ पाएं. वीडियो में कोरोना काल में दूरदर्शन पर चलाए गए सभी क्लास के वीडियो भी इसमें रहेंगे. बिहार शिक्षा परियोजना परिषद और यूनिसेफ ने इस ई-लाईब्रेरी को तैयार किया है. इसमें बिहार बोर्ड की 9वीं से लेकर 12वीं के साथ पहली क्लास के आठवीं तक की सारी किताबें डिजिटल फॉर्मेट में हैं.

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के अनुसार ई-लाईब्रेरी में हर क्लास के अनुसार किताबें रखी गई हैं. इसमें छात्र कक्षा चुनने के बाद विषय और फिर सब्जेक्ट के चैप्टर को चिन्हित करके पढ़ेंगे. इसके लिए किताबों को डाउनलोड करने की जरूरत नहीं होगी. साथ ही पन्ने पलटने की सुविधा भी होगी. 

लापरवाही! अंतिम संस्कार के समय पत्नी को पता लगा पति है जिंदा, बोली-यह मेरे नहीं…

ई-लाईब्रेरी का उद्घाटन जल्द ही किया जाएगा. इसमें कई चरणों में काम हो रहा है. पहले चरण में किताबें डिजिटल फॉर्मेट में डाली गई हैं. अब कोरोना काल में दूरदर्शन पर चली कक्षाओं की वीडियो को इसमें डाला जाएगा. बता दें कि अगल हफ्ते तक ई-लाईब्रेरी का उद्घाटन होने की उम्मीद है. कोरोना काल में स्कूल बंद होने के कारण बच्चे इसका अच्छे से लाभ उठा पाएंगे. 

अगर आप भी अनचाहे SMS से हैं परेशान तो रोकने के लिए करना होगा यह काम

बिहार शिक्षा परियोजना परिषद के निदेशक संजय सिंह ने बताया कि ई-लाईब्रेरी सरकारी स्कूलों के छात्रों को ध्यान में रखते हुए बनाई जा रही है. बिहार टेक्सट बुक की सारी क्लास की किताबें डिजीटल फॉर्मेट में डाल दी गई हैं. इससे छात्र कहीं भी बैठकर अपनी पढ़ाई पूरी कर पाएंगे. इतना ही नहीं इसमें यह भी फीचर रखा गया है जिससे बच्चे को कितना समझ आया है वो उसका सेल्फ असेसमेंट भी कर पाएगा. इसके लिए हर चैप्टर के बाद प्रश्नोत्तर दिए गए हैं. 

बेटी ने मां-बाप के खिलाफ कराई FIR, नौकरी छोड़ने और शादी करने का बना रहे दबाव 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें