बिहार बोर्ड रिजल्ट में आते हैं अगर नंबर कम तो ना हो परेशान, करें ये काम

Smart News Team, Last updated: Mon, 5th Apr 2021, 12:34 PM IST
  • बिहार बोर्ड की ओर से मैट्रिक परीक्षा 2021 के नतीजे 5 अप्रैल दोपहर तक जारी/प्रकाशित हो सकते है. दो विषय में कम नंबरों से फेल होने वाले विद्यार्थियों को बोर्ड की ओर से ग्रेस अंक देकर पास कर दिया जाएगा.
बिहार बोर्ड रिजल्ट में आते हैं अगर नंबर कम तो ना हो परेशान, करें ये काम

पटना: बिहार बोर्ड के मैट्रिक/दसवीं बोर्ड के रिजल्ट लंबा इंतजार अब खत्म हो जायेगा ऐसा माना जा रहा है कि बिहार बोर्ड की ओर से मैट्रिक परीक्षा 2021 के नतीजे 5 अप्रैल दोपहर तक जारी/प्रकाशित हो सकते है. आपको बता दें शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी रिजल्ट जारी करेंगे. परीक्षा परिणाम बोर्ड की अधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in पर जारी किए जाएंगे. इसके अलावा आप रिजल्ट के लिए livehindustan.com पर भी देख सकते हैं. अगर आप फेल भी हो गए हैं तो परेशान न हों क्योंकि बिहार बोर्ड इस बार परीक्षार्थियों को 30 फीसदी मार्क्स पर ही पास कर देगा और अगर आपके 30 फीसदी मार्क्स भी नहीं पूरे हो रहें हैं तो अतिरिक्त विषय के नंबरों को कंपल्सरी विषय में ग्रेस अंक देकर पास किया जायेगा.

पासिंग मार्क्स के लिए 30 फीसदी अंक 

10वीं बोर्ड में मैट्रिक परीक्षा के विद्यार्थियों को पास होने के लिए हर विषय में पास होने के लिए 30 पर्सेंट नंबर लाना जरूरी है. वहीं अधिकतम दो विषय में कम नंबरों से फेल होने वाले विद्यार्थियों को बोर्ड की ओर से ग्रेस अंक देकर पास कर दिया जाएगा. पिछली बार 10वीं की परीक्षा में बोर्ड की ओर से करीब 1,41,677 विद्यार्थियों को ग्रेस अंक देकर पास किए गए थे.

बिहारः कोरोना का कहर, वैक्सीन लगवाने के बाद भी पटना मिड डे मील DPO हुए संक्रमित

कंपल्सरी विषय में फेल होने पर ऐसे किए जायेंगे पास

मिडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अगर बिहार बोर्ड 10वीं/मैट्रिक की परीक्षा में कोई विद्यार्थी कंपल्सरी विषय में फेल होता है, तो उसे चुने गए अतिरिक्त विषय के नंबरों को कंपल्सरी विषय में जोड़कर पास किया जायेगा. वहीं विद्यार्थी को अंग्रेजी के विषय में पास होना जरूरी है. इसके अलावा विद्यार्थी को सामाजिक विज्ञान और विज्ञान के प्रैक्टिल, लिखित और इंटरनल असेसमेंट में पास होना अनिवार्य है.

बिहार के 2 छात्रों ने बनाया कोरोना अलर्ट डिवाइस, मिला पेटेंट प्रमाण पत्र

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें