बिहार में बच्चों में फैल रहे वायरल बुखार पर CM नीतीश की मीटिंग, बोले- अलर्ट और एक्टिव रहें

Ankul Kaushik, Last updated: Sat, 11th Sep 2021, 5:04 PM IST
  • बिहार में राजधानी पटना सहित कई जिलों में वायरल बुखार का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. इसी बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की. इस बैठक में सीएम नीतीश ने स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट रहने आदेश दिया और अस्पतालों में पर्याप्त दवाओं रहने का निर्देश दिया है.
CM नीतीश और स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक की, फोटो क्रेडिट (बिहार हेल्थ डिपार्टमेंट ट्विटर)

पटना. बिहार में इस समय वायरल बुखार का प्रकोप और इसे लेकर स्वास्थय विभाग भी तैयार है. वहीं इसी बीच स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने एक समीक्षा बैठक की. इस बैठक में सीएम नीतीश ने वायरल और स्वाइन फ्लू को लेकर निर्देश जारी किया है, जिसमें ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण अभियान चलाकर इस कार्य को तेजी से पूरा किया जाएगा. इसके साथ ही सीएम नीतीश ने ने कहा कि बच्चों के इलाज के लिए पर्याप्त मात्रा में अस्पतालों में दवा की उपलब्धता सुनिश्चित होनी चाहिए. सीएम नीतीश ने लोगों से मास्क पहनने की अपील करते हुए स्वास्थ्य विभाग को भी अलर्ट रहने का निर्देश दिया है. सीएम ने कहा मास्क कोरोना के साथ-साथ अन्य वायरल बीमारियों से बचाव में भी उपयोगी है.

बिहार में राजधानी पटना समेत बिहार के तकरीबन आधा दर्जन जिलों में वायरल बुखार का प्रकोप है. इस बुखार में सबसे अधिक मासूम बच्चे चपेट में आ रहे हैं और इस वायरल बुखार के बढ़ते प्रकोप को लेकर स्वास्थ्य विभाग सतर्क है. बच्चों के बढ़ते मामले को लेकर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि हफ्ते भर में बुखार से पीडित बच्चों की संख्या बढ़ी है लेकिन घबराने की जरूरत नहीं है. प्रदेश के अस्पतालों और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को वायरल बुखार से पीडित बच्चों का पहले इलाज करने का निर्देश दिया है.

मुजफ्फरपुर में कोरोना और वायरल बुखार से निपटेगी 67 MBBS डॉक्टरों की स्पेशल टीम, सभी CHC, PHC में होगी तैनाती

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बिहार में बढ़ रहे बुखार के मरीजों को लेकर कहा कि बुखार को लेकर विभागीय स्तर पर मेडिकल टीमों का गठन हुआ है जिसमें एकत्रित रोग निगरानी परियोजना (आइडीएसपी) के विशेषज्ञ टीम शामिल हैं. जिसमें एक टीम मुजफ्फरपुर, दूसरी गोपालगंज और तीसरी टीम सीवान भेजी गई है और यह टीम इलाजरत बच्चों की स्थिति की सही जानकारी स्वास्थ्य विभाग को सौंपेगी. वहीं कुछ दिन पहले भी स्वास्थ्य मंत्री ने पटना के PMCH अस्पताल में बच्चा वार्ड और पीकू वार्ड में जाकर बच्चों को देखा था. इसके साथ ही उन्होंने पीडित बच्चों के परिजनों से इलाज के सम्बन्ध में जानकारी ली थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें