बिहार में लॉकडाउन से पहले अफरा-तफरी, बाजारों में भीड़, दुकानों के बाहर लंबी लाइन

Smart News Team, Last updated: 04/05/2021 05:29 PM IST
  • लॉकडाउन की जानकारी मिलते ही प्रदेश में हर तरफ अफरा तफरी मच गई है. खासकर राशन के दुकानों में राशन लेने के लिए लंबी लंबी लाइनें लग गई.
बिहार में लॉकडाउन से पहले अफरा-तफरी, बाजारों में भीड़, दुकानों के बाहर लंबी लाइन (फाइल फ़ोटो)

पटना: देश भर में कोरोना की आई दूसरी लहर से चारों तरफ अफरा तफरी का माहौल है. कोरोनो संक्रमितों की संख्या में लगातार वृद्धि हो रही है. बिहार में भी लगातार कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़ती जा रही है. इसी को देखते हुए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 मई तक समूचे बिहार में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की है. फिलहाल मुख्यमंत्री नितीश कुमार ने प्रदेश वासियों को लॉकडाउन की जानकारी ट्वीट कर के दी है.

लॉकडाउन की जानकारी मिलते ही प्रदेश में हर तरफ अफरा तफरी मच गई है. खासकर राशन के दुकानों में राशन लेने के लिए लंबी लंबी लाइनें लग गई. सभी लोग घर की और खाने पीने चीज़ों जैसे जरुरी सामान लेने बाजार के तरफ निकल पड़े हैं. जानकारी हों कि इससे पहले पूरे बिहार में रात को कर्फ्यू लगाया जा रहा था. लेकिन इससे प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या कम ना हो कर लगातार बढ़ती जा रही थी. साथ ही साथ दिन ब दिन कोरोना से होने वाली मौतों में भी लगातार इजाफा देखा जा रहा था. जिससे लोगों में एक डर का भी माहौल लगातार बना हुआ है. जिसको देखते हुए प्रदेश सरकार ने कल से 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी.

बिहार सरकार का आदेश- बेमतलब बाहर निकलने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई

इससे पहले प्रदेश भर के स्कूल और कोचिंग जैसे अन्य शैक्षणिक संस्थान तो बंद थे लेकिन बाजार और दफ्तर आदि खुल रहे थे. दिन में भी किसी तरह की आवाजाही पर किसी तरह की पाबंदी नहीं लगाई गई थी. लेकिन कल यानी 5 मई से 15 मई तक आम गतिविधियों पर रोक लगाई जा रही है.

पिछले साल की तरह इस साल भी बिहार हुआ लॉक, मजदूरों को आजीविका की चिंता

पिछले देशव्यापी लॉकडाउन से डरे सहमे लोग मुख्यमंत्री द्वारा ट्वीटर पर लॉकडाउन की जानकारी साझा करते ही खाने पीने और घर की अन्य जरूरत के सामान को ज्यादा से ज्यादा मात्रा मे इक्कठा कर लेने के ख्याल से अपने अपने घरों से झोला उठा कर बाजार की तरफ चल पड़े हैं. जिससे बाजार में खाने पीने के सामान मिलने वाले दुकानों पर और बाजारों में अचानक से भीड़ बढ़ गई है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें