CM नीतीश की बिहार स्वास्थ्य को बड़ी सौगात, सभी 533 पीएचसी होंगे सीएचसी में तब्दील

Somya Sri, Last updated: Wed, 15th Dec 2021, 10:20 AM IST
  • सीएम नीतीश कुमार ने राज्य के सभी 553 पीएचसी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में विकसित करने का ऐलान किया है. अब पीएचसी में जहां बेड की संख्या 6 होती थी. वहां इसे बढ़ाकर 30 कर दी जाएगी.साथ ही स्वास्थ्य केंद्र में विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती होगी. ऑपरेशन और दवाओं की व्यवस्था होगी. इसके अलावा उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध होंगी.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के स्वास्थ्य को बड़ी सौगात दी है. सीएम नीतीश कुमार ने राज्य के सभी 553 पीएचसी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में विकसित करने का ऐलान किया है. अब पीएचसी में जहां बेड की संख्या 6 होती थी. वहां इसे बढ़ाकर 30 कर दी जाएगी. पीएचसी को सीएचसी में तब्दील करने के बाद स्वास्थ्य केंद्र में विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती होगी. ऑपरेशन की सुविधा उपलब्ध रहेगी. दवाओं की व्यवस्था होगी. साथ ही उच्च स्तरीय स्वास्थ्य सेवाएं भी उपलब्ध होंगी.

मालूम हो कि मुख्यमंत्री मंगलवार को 500 करोड़ की लागत से बनी जमुई चिकित्सा महाविद्यालय एवं अस्पताल का शिलान्यास कर रहे थे. उन्होंने 1919 करोड़ 95 लाख की 772 योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. इस मौके पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा, "राज्य के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में जल्द तब्दील किया जाएगा. इस पर काम जोर-शोर से चल रहा है. 533 में 260 पीएचसी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के रूप में विकसित भी कर दिया गया है. इसके तहत छह बेड की जगह 30 बेड की सुविधा बहाल की जा रही है."

घोड़े पर सवार होकर अपनी शादी में पहुंची एयर होस्टेस, दूल्हे व बारातियों ने दिया ये रिएक्शन

मुख्यमंत्री ने कहा, " जब से हमलोगों को मौका मिला है, सभी क्षेत्रों में विकास का काम किया जा रहा है. शिक्षा और स्वास्थ्य पर शुरू से विशेष जोर रहा है. बिहार में पहले छह सरकारी व दो प्राइवेट मेडिकल कॉलेज थे. अब राज्य में 11 सरकारी मेडिकल कॉलेज और छह प्राइवेट हैं. हमलोगों ने आईजीआईएमएस में भी काफी काम कराया. अब इसे 2500 बेडों वाला अस्पताल बनाया जा रहा है. पहले कोई यहां इलाज के लिए नहीं आना चाहता था, लेकिन अब यहां की बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था एवं सुविधा के लिए काफी लोग आते हैं."

उन्होंने कहा, " पटना में एम्स का निर्माण कराया गया और दरभंगा में भी कराया जा रहा है. स्वास्थ्य उपकेंद्र में इलाज के लिए आनेवाले लोगों को बेहतर इलाज के लिए विशेषज्ञों के माध्यम से टेलीमेडिसिन द्वारा परामर्श देने का काम प्रारंभ किया गया है. " सीएम ने कहा, " सिटी स्कैन, रेडियोलॉजी, पैथोलॉजी, डायलिसिस सहित मरीजों को हर प्रकार की सुविधाएं सभी जिला अस्पतालों में उपलब्ध करायी जा रही हैं."

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें