नीतीश सरकार के 16 साल! छात्राओं और किसानों की मदद, शराब और कोरोना मुक्त बिहार का सपना

Somya Sri, Last updated: Wed, 17th Nov 2021, 7:43 AM IST
  • बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार ने अपना एक साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है. इस दौरान नीतीश सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग के क्षेत्र में कई बड़े काम किए. कोरोना के दौर में भी राज्य सरकार ने कई अहम फैसले लिए जिससे गिरती अर्थव्यवस्था को मजबूती मिली. वहीं महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा देने और डिजिटल साक्षरता को आगे ले जाने के लिए कई महत्वपूर्ण कदम उठाये गए.
नीतीश सरकार के 16 साल! छात्राओं और किसानों की मदद, शराब और कोरोना मुक्त बिहार का सपना (HT photo)

पटना: बिहार में नीतीश कुमार की मौजूदा सरकार ने अपना एक साल का कार्यकाल पूरा कर लिया है. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कई अहम फैसले लिए. राज्य सरकार ने शिक्षा, स्वास्थ्य, उद्योग के क्षेत्र में कई बड़े काम किए. कोरोना वायरस के दौर में लोगों को निशुल्क टिका लगा और ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए राज्य में ऑक्सीजन प्लांट लगाए गए. साथ ही ग्रेजुएशन पास छात्राओं को 50 हजार तक की प्रोत्साहन राशि दी गई. महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा दिया गया. इंटर पास लड़कियों को 25-25 हजार रुपये मिले. वहीं औद्योगिक अर्थव्यवस्था की मजबूती के लिए कई अहम फैसले उठाए गए.

बेटियों को शिक्षा में मिले प्रोत्साहन राशि

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने चुनाव के दौरान यह घोषणा की थी कि उनकी सरकार बनी तो स्नातक पास करने वाली छात्राओं को 50-50 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाएगी. उसी घोषणा पर अमल करते हुए छात्राओं को ये प्रोत्साहन राशि मिली. वहीं इंटर पास लड़कियों को 25 25000 रुपए प्रोत्साहन राशि के तौर पर दिए गए. मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के तहत सरकार ने करीब चार लाख 12 हजार से ज्यादा इंटर पास अविवाहित लड़कियों और 1 लाख 24 हजार ग्रेजुएट छात्राओं को प्रोत्साहन राशि दी है.

पेट्रोल डीजल 17 नवंबर का रेट: पटना, पूर्णिया, गया, मुजफ्फरपुर, भागलपुर में पेट्रोल डीजल के दाम स्थिर

बिहार में शराबबंदी अब भी सपना

बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के द्वारा राज्य में शराब बंदी कर देने के बाद भी उसे बेचा और पिया जा रहा है. शराबबंदी वाले राज्य बिहार में पिछले दिनों ही जहरीली शराब से कई लोगों की मौत हुई थी. वहीं मंगलवार को सीएम नीतीश कुमार हाई लेवल मीटिंग कर रहे थे ठीक उसके सामने की सड़क पर शराब की खाली बोतल मिली. कहा जा रहा है कि आने वाले दिनों में राज्य सरकार शराब के खिलाफ व्यापक स्तर पर अभियान चलाएगी. लेकिन इस बात से मुकर नहीं सकते कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी अब भी सपना है.

राज्य में लगे ऑक्सीजन प्लांट, निशुल्क कोरोना वैक्सीन

नीतीश सरकार ने अपने 1 साल के कार्यकाल में स्वास्थ्य सेवा के क्षेत्र में दो बड़े महत्वपूर्ण निर्णय लिए. जिनमें कोरोना वैक्सीन निशुल्क लोगों को लगाया गया. साथ ही ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए राज्य में ऑक्सीजन प्लांट की स्थापना की गई. इसके साथ ही राज्य सरकार ने कोरोना वायरस की दूसरी लहर के दौरान कोरोना संक्रमित मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता के रूप में 40 लाख रुपये देने का भी निर्णय लिया.

सर्राफा बाजार 17 नवंबर का रेट: पटना, मुजफ्फरपुर, भागलपुर, पूर्णिया, गया में सोना चांदी के बढ़े दाम

औद्योगिक अर्थव्यवस्था को मिली मजबूती

आर्थिक मोर्चे पर देखा जाए तो नीतीश सरकार ने अपने 1 साल के कार्यकाल में औद्योगिक अर्थव्यवस्था को मजबूती देने के लिए कई अहम फैसले लिए. कोरोना वायरस के दौर में बंद होते उद्योगों को देखते हुए नीतीश सरकार ने औद्योगिक संभावनाओं को सृजित करने के लिए इथेनॉल पॉलिसी निकाली. इसी तरह राज्य में टेक्सटाइल एवं पॉलिसी, निर्यात नीति, भूमि आवंटन नीति और एमनेस्टी पॉलिसी के तहत राज्य में निवेश के सुनहरे अवसर प्रदान किए.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें