बिहार चुनाव से पहले नीतीश सरकार ने बेरोजगारी कम करने को शुरू किया रोजगार पोर्टल

Smart News Team, Last updated: 23/09/2020 12:15 PM IST
श्रम संसाधन विभाग के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि हमारी कोशिश है कि प्रदेश के युवाओं को अधिकाधिक रोजगार मिल सके. अभी तक बेरोजगारों का निबंधन केंद्र के पोर्टस से किया जा रहा था इस पोर्टल के आने के बाद केंद्रीय पोर्टल की निर्भरता भी खत्म होगी. 
Nitish Kumar (File Photo)

पटना. प्रदेश में बढ़ती बेरोजगारी को देखते हुए बिहार सरकार के श्रम मंत्रालय ने बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध करवाने के लिए एक पोर्टल बनाया है. इस पोर्टल का उद्देश्य है लोगों को रोजगार के अवसरों की जानकारी उपलब्ध करवाना. विभाग इस पोर्टल के बड़ी कंपनियों को जोड़ेगा जिसके चलते लोगों को नौकरियाँ मिल सकेगी. विभाग प्रमंडलीय स्तर पर एक मॉनिटरिंग सेल गठन की तैयारी कर रहा है.  अभी  तक बेरोजगारों का निबंधन केंद्र के पोर्टस से किया जा रहा था इस पोर्टल के आने के बाद केंद्रीय पोर्टल की निर्भरता भी खत्म होगी. 

इस पोर्टल पर जानकारी देते हुए श्रम संसाधन विभाग के मंत्री विजय कुमार सिन्हा ने कहा है कि नियोजन पोर्टल को तैयार कर लिया गया है. इस पोर्टल के माध्यम से राज्य के युवाओं के ज्यादा से ज्यादा नियोजन के लिए बड़ी कंपनियों का भी निबंधन कराया जा रहा है. प्रमंडलीय स्तर पर मॉनिटरिंग सेल का गठन किया जाएगा. हमारी कोशिश है कि प्रदेश के युवाओं को अधिकाधिक रोजगार मिल सके. 

कोरोना काल: बिहार में 28 सितंबर से खुलेंगे 9वीं से 12वीं कक्षा तक के स्कूल

केंद्रीय पोर्टल की सहायता से साल 2016 से ही नेशनल करियर सर्विस प्रोजेक्ट के तहत राज्य के सभी नियोजनालयों में माध्यम से नेशनल करियर पोर्टल पर ऑनलाइन निबंधन का कार्य किया जा रहा है. अब तक कुल 12 लाख 32 हजार आवेदकों का निबंधन किया जा चुका है. अब अगर कोई रोजगार पाना चाहता है तो वह राज्य के पोर्टल के माध्यम से नियोजन करवा सकता है. जानकारी मिल रहा है कि पिछले पाँच सरकार ने 627 नियोजन मेलों का आयोजन किया गया है और इसके आलाव कुल 2 लाख 63 हजार 348 लोगों रोजगार मिला है. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें