हर घर नल का जल योजना का लाभ लेने के लिए कैसे करें आवेदन? पढ़ें पूरी प्रक्रिया

Priya Gupta, Last updated: Wed, 22nd Sep 2021, 2:19 PM IST
  • बिहार हर घर नल का जल योजना के तहत बिहार के लोगों के घरों में पेयजल देने का लक्ष्य तय किया गया है. 
हर घर नल का जल योजना का लाभ लेने के लिए कैसे करें आवेदन? पढ़ें पूरी प्रक्रिया

पटना: बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने हर घर नल का जल योजना की शुरुआत की थी. लेकिन ये योजना इन दिनों खूब चर्चा में है. बिहार के उप मुख्यमंत्री तारकिशोर के परिवार पर इस योजना के सारे ठेके लेने की बात कही जा रही है. हालांकि इस पर तारकिशोर ने सफाई दी है. इस मामले से पहले ये जानते है कि बिहार हर घर नल का जल योजना क्या है. कब हुई थी इसकी शुरुआत.

बिहार सरकार की हर घर नल जल योजना का शुभारंभ 28 अगस्त 2020 में हुआ था. इसका शुभारंभ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया था. पटना जिले में यह योजना 871 वार्डों में पूरी हो चुकी है इससे करीब डेढ़ लाख घर लाभान्वित होंगे. इस योजना के तहत बिहार के हर घर में शुद्ध पेयजल मिलेगा. पटना जिले के पूर्वी डिवीजन में 646 वार्डों में 475 और पश्चिमी डिवीजन के 396 वार्डों को नल से जल देने की बात कही गई थी. राज्य सरकार का ऐसा दावा है कि इस योजना के लक्ष्य के मुताबिक 95 प्रतिशत तक काम किया गया है.राज्य भर में 56 हजार वार्डों में नल लगाने का लक्ष्य तय किया था.नल-जल योजना का लाभ लेने वाले परिवार को प्रतिमाह 30 रुपये शुल्क अनिवार्य रूप से भरना होगा

छत्तीसगढ़ पुलिस भर्ती 2021: 975 SI पदों के लिए निकली भर्तियां, ऐसे करें आवेदन

1.62 करोड़ परिवारों को मिल रहा फायदा

रिपोर्ट के मुताबिक, पीएचइडी और पंचायती राज विभाग द्वारा राज्य के 98 प्रतिशत ग्रामीण वार्डों में पाइप जलापूर्ति योजना का कार्य पूरा करते हुए 1.62 करोड़ परिवारों को नियमित टैब से पानी पहुंचाया जा रहा है. अब सात निश्चय पार्ट टू के अंतर्गत स्वच्छ गांव स्मृद्ध गांव निश्चय अंतर्गत जलापूर्ति योजनाओं के रख-रखाव को लेकर विभाग ने कई दिशा निर्देश अधिकारियों को दिये हैं.

बिहार में चल रही हर घर नल का जल योजनाको अब बिहार लोक सेवाओं के अधिकार अधिनियम के दायरे में शामिल किया जाएगा. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने विभाग की समीक्षा के दौरान कहा कि हर घर नल का जल योजना को बिहार लोक सेवाओं के अधिकार अधिनियम के दायरे में शामिल करें ताकि किसी प्रकार की समस्या होने पर लोगों को एक निश्चित समय सीमा के अंदर उसका समाधान हो सके.

हाल ही में हुए समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के लिए हर घर नल का जल योजना चलाई है. लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध हो और खुले में शौच से मुक्ति मिल जाय तो लगभग 90 प्रतिशत बीमारियों से छुटकारा मिल जायेगा. उन्होंने कहा कि सभी को स्वच्छ पेयजल हमेशा उपलब्ध रहे इसके लिए मेंटेनेंस की व्यवस्था बनाए रखें और हर हाल में उचित रखरखाव जरूरी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें