बिहार में तेजी से हो विकास, CM नीतीश कुमार ने 12 योजनाओं का किया उद्घाटन

Somya Sri, Last updated: Sun, 5th Dec 2021, 9:33 AM IST
  • बिहार सीएम नीतीश कुमार ने नगर विकास एवं आवास विभाग की विभिन्न योजनाओं के शिलान्यास और उद्घाटन कार्यक्रम में कहा कि राज्य सरकार विकास का काम और तेजी से करेगी ताकि बिहार विकसित राज्य बन सके. इस दौरान सीएम ने स्मार्ट सिटी मिशन की 12 योजनाओं का उद्घाटन किया जबकि 15 योजनाओं का शिलान्यास किया.
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

पटना: बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शनिवार को सचिवालय स्थित संवाद में नगर विकास एवं आवास विभाग की विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन किया. सीएम नीतीश कुमार ने स्मार्ट सिटी मिशन की 12 योजनाओं का उद्घाटन किया जबकि 15 योजनाओं का शिलान्यास किया. इस दौरान सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि राज्य सरकार विकास का काम और तेजी से करेगी ताकि बिहार विकसित राज्य बन सके. इस दौरान उन्होंने कहा कि, "जबसे हम लोगों को काम करने का मौका मिला है, हमलोगों ने शहरों के विकास और उनकी निरंतर प्रगति व सुधार के लिए प्रयास किया है. सरकार विकास का काम और तेजी से करेगी ताकि बिहार विकसित राज्य बने."

मुख्यमंत्री ने कहा कि साल 2005 में बिहार में सिर्फ 112 शहरी निकाय थे जो साल 2021 में बढ़कर 258 हो गए. साल 2005 में शहरी निकायों की आबादी 81 लाख 49 हजार थी जो अब एक करोड़ 58 लाख 71 हजार हो गई है. सीएम ने कहा कि राज्य में कई नगर निगम, नगर परिषद और नगर पंचायतों का गठन किया गया है. इसमें ग्रामीण इलाकों को शहरी क्षेत्र में शामिल किया गया है. नगर निकायों का काम सही तरीके से हो, इसके लिए पदों का सृजन किया गया है.

आपकी फ्लाइट है तो ध्यान दें! पटना में दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई की फ्लाइट 3 घंटे लेट, जानें रिशिड्यूल

शहरों में विकसित किया गया स्मार्ट वाटर ड्रेनेज सिस्टम

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि सभी शहरों में स्मार्ट वाटर ड्रेनेज सिस्टम को विकसित किया जाएगा ताकि शहरों में जलजमाव की समस्या नहीं हो. सभी शहरों व नदी घाटों पर विद्युत शवदाह गृह व मोक्ष धाम का निर्माण कराया जाएगा. वहां साफ-सफाई की भी पूरी व्यवस्था रहेगी ताकि किसी को भी अपने परिजनों के अंतिम संस्कार में कोई परेशानी नहीं हो. शहरों के गंदे पानी को साफ कर गांवों में सिंचाई के लिए इसका उपयोग करने की योजना पर काम चल रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें