बिहार वासियों को अगले 5 साल में मिलेगा 20 लाख रोजगार, और मुफ्त कोरोना वैक्सीन

Smart News Team, Last updated: 16/12/2020 04:07 PM IST
  • राज्य के बाहर काम करने वाले कामगारों का पंचायतवार डाटाबेस बनाया जाएगा, हृदय में छेद के साथ जन्में बच्चों को नि: शुल्क उपचार ,राज्य में चिकित्सा, अभियंत्रण और खेल विश्वविद्यालय की स्थापना की जाएगी, वृद्धों के लिऐ शहरों में आश्रय स्थल, शहरों के बेघर- भूमिहीन ग़रीबों के लिए बहुमंजिला भवन
बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में सुशासन के अगले 5 साल 2020 से 2025 तक के एजेंडे पर मुहर लगाई गई. इसके तहत नीतीश कुमार के आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय पार्ट 2 कार्यक्रमों को मंजूरी प्रदान की गई. सरकार ने राज्य में लोगों को कोरोना का टीका फ्री में लगाने का फैसला किया है. इसके अलावा 5 साल के एजेंडे में सबसे अधिक जोर छात्रों की पढ़ाई और युवाओं की कमाई पर दिया गया है. युवाओं के कौशल विकास के लिए भी कई बड़े कदम उठाए गए हैं इसके साथ ही अगले 5 सालों में 20 लाख से ज्यादा लोगों के लिए नए रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है.

गौरतलब हो कि कोरोना का टीका देने के लिए राज्य सरकार की तैयारी पहले से ही चल रही है टीका के भंडारण के लिए सूबे में केंद्र तैयार है. पहले चरण में डॉक्टरों व स्वास्थ्य कर्मियों का टीकाकरण किया जाएगा. कैबिनेट के फैसले में यह भी साफ कर दिया गया है. सात निश्चय के तहत किए जाने वाले कार्यों की मॉनिटरिंग बिहार के विकास मिशन के माध्यम से किया जाएगा. मालूम हो कि चुनाव की घोषणा होने के बाद सीएम ने वादा किया था. कि अगली बार सत्ता में आएंगे तो सात निश्चय पदों पर काम करेंगे. इसके तहत होने वाले कार्यों का स्वरूप भी उन्होंने प्रमुखता से प्रस्तुत किया.

BPSC प्रोजेक्ट मैनेजर एग्जाम की तारीखों में बदलाव, जानें नई डेट्स

स्नातक उत्तीर्ण लड़कियों को मिलेगा 50000

स्नातक उत्तीर्ण सभी लड़कियों को 50000 मुफ्त दिए जाएंगे इसी प्रकार इंटर पास अविवाहित लड़कियों को 25000 दिए जाएंगे अब तक स्नातक उत्तीर्ण होने पर 25000 और इंटर पास होने पर अविवाहित लड़कियों को 15000 दिए जा रहे हैं. जिसे राज्य सरकार ने बढ़ावा दिया है इसके लिए सूचना शीघ्र जारी कर दी जाएगी.

पटना: बेऊर जेल में 2 घंटे पुलिस टीम ने की छापेमारी, मोबाइल मिलने की चर्चा

राज्य में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनेंगे

राज्य के प्रत्येक औद्योगिक प्रबंधन संस्थान तथा पॉलिटेक्निक संस्थानों में प्रशिक्षण की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए उच्चस्तरीय सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाया जाएगा इसके तहत विद्यार्थियों को वर्तमान उद्योगों की आवश्यकता के अनुरूप उच्च स्तरीय एवं नई तकनीक वाले क्षेत्रों में जीन की बाजार में ज्यादा मांग है उसका प्रशिक्षण दिया जाएगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें