पेगासस मुद्दे पर विपक्ष के साथ आए CM नीतीश कुमार, कहा- जासूसी कांड की हो जांच

Smart News Team, Last updated: Mon, 2nd Aug 2021, 6:58 PM IST
  • पेगासस मामले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का साथ भी विपक्ष को मिल गया है. बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने कहा है कि कई दिनों से फोन टैपिंग की बात हो रही है. इस मुद्दे पर संसद में चर्चा होनी चाहिए और इसकी जांच भी होनी चाहिए.
पेगासस मुद्दे पर विपक्ष को मिला नीतीश कुमार का साथ

पटना. पेगासस मामले को लेकर विपक्ष को घेरने की कोशिश कर रहा है इसी बीच अब बिहार के सीएम नीतीश कुमार का साथ भी विपक्ष को मिल गया है. नीतीश कुमार ने फोन टैपिंग मामले में विपक्ष की मांगो का समर्थन किया है और जासूसी कांड को लेकर संसद में बहस करने के लिए कहा है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा है कि देश में जासूसी कांड की बात इतने दिनों से आ रही है तो इस पर चर्चा होनी चाहिए, मेरी समझ से तो जांच हो जानी चाहिए और जो सच्चाई है वह सामने आनी चाहिए. नीतीश ने अपने सहयोगी दल बीजेपी की सरकार से इस मामले की जांच की मांग की है.

सीएम नीतीश कुमार ने जनता दरबार के बाद मीडियाकर्मियों से बात करते हुए कहा कि इस पेगासस मुद्दे पर बहस होनी चाहिए. इतना ही नहीं सरकार को इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए और इसके लिए उचित कदम उठाने चाहिए. इसके साथ ही जासूसी कांड की जांच भी होनी चाहिए क्योंकि सरकार को यह भी जानना चाहिए कि फोन हैकिंग के पीछे कौन है.

इसके साथ ही नीतीश कुमार ने कहा कि विपक्ष इस मामले में जांच की मांग के बारे में कह रहा है लेकिन मेरा मानना है कि जिनके पास फोन जासूसी का कोई ठोस सबूत है, उन्हें सबूत के साथ सामने आना चाहिए. कुछ दिन पहले नीतीश कुमार ने इस मामले को लेकर कहा था कि हम तो शुरू से कह रहे हैं कि जो नई तकनीक आ गई है वह परेशानी खड़ी करेगी. इस पर विचार करना चाहिए और नई तकनीक से लाभ भी मिलता है लेकिन कुछ लोग उसका दुरुपयोग भी करते हैं.

फोन टैपिंग पर बोले तेजस्वी यादव- सरकार बेडरूम में झांकने लगे इससे बुरा कुछ नहीं

दरअसल कुछ दिन पहले एक न्यूज वेबसाइट की रिपोर्ट में खुलासा हुआ था कि इज़रायली सॉफ्टवेयर पेगासस की मदद से कई विपक्षी नेता, पत्रकार और अन्य लोगों के फोन हैक हुए हैं. इस रिपोर्ट में ये भी बताया गया था फोन हैकिंग होने वालों में राहुल गांधी, प्रशांत किशोर, केंद्रीय मंत्रियों समेत विपक्ष के कई दिग्गज नेताओं के नाम हैं.

फोन टैपिंग पर बोले अखिलेश यादव- अगर BJP ने ये किया है तो सजा मिलनी चाहिए

जातीय जनगणना के सवाल पर सीएम नीतीश ने कहा राज्य सरकार द्वारा जातीय जनगणना का विकल्प हमेशा खुला रहेगा. हम पीएम मोदी से जातीय जनगणना को लेकर फिर आग्रह करेंगे अब करना ना करना केंद्र के ऊपर है. जातीय जनगणना से समाज में तनाव फैलेगा यह बिल्कुल गलत बात है इससे सबको खुशी होगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें