बिहार में उपभोक्ताओं को मिलेगी सस्ती बिजली, टैरिफ और स्लेब में बदलाव पर काम शुरू

Nawab Ali, Last updated: Tue, 2nd Nov 2021, 8:12 AM IST
  • बिहार में सस्ती बिजली देने के लिए उर्जा विभाग ने रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. उर्जा सचिव सह सीएमडी संजीव हंस का कहना है कि टैरिफ और स्लेब में बदलाव कर उपभोक्ताओं को सने वाले सैलून में सस्ती बिजली मिल सकेगी.
बिहार में उपभोक्ताओं को कम दरों पर मिलेगी बिजली. सांकेतिक फोटो

पटना. बिहार में उर्जा विभाग उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने के लिए टैरिफ और स्लेब बदलाव करने जा रहा है. इन बदलावों के लिए बिहार विद्युत विनियामक आयोग की सहमती लेनी होगी जिसके बाद ही उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली मिल सकेगी. 1 नवंबर को बिजली कंपनी के स्थापना दिवस के मौके पर उर्जा सचिव सह सीएमडी संजीव हंस ने यह जानकारी दी है. संजीव हंस ने कहा है कि बिजली की श्रेणी को कम कर असमान दर दूर होगी.

बिहार में आने वाले सालों में उर्जा विभाग उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली देने की तैयारियों में जुट गया है. बिहार में बिजली श्रेणियों को कम कर उपभोक्ताओं को सस्ती बिजली दी जाएगी. बिजली कंपनी के स्थापना दिवस पर उर्जा सचिव सह सीएमडी ने जानकारी देते हुए कहा है कि पहले बिहार में बिजली की 90 श्रेणियां थी लेकिन इन्हें घटाकर अब तीन दर्जन तक लाया गया है. अब हमारी कोशिश है कि इन्हें और घटाकर और सस्ती बिजली उपभोक्ताओं को दी जाएगी. जिसके लिए कंपनी ने इस रणनीति पर काम करना शुरू कर दिया है. टैरिफ और स्लेब में बदलाव करने के लिए कंपनी को विद्युत विनियामक आयोग से सहमती लेनी होगी. 

जहरीली शराब से मौत पर बोले नीतीश कुमार, धंधा करने वालों के खिलाफ सख्ती करेगी सरकार

संजीव हंस का कहना है कि पहले चार-पांच स्लेब होते थे लेकिन इन्हें कम कर तीन किये गए लेकिन अब कंपनी दो स्लेब करने के बाद एक स्लेब पर काम करेगी. उनका कहना है कि की एक स्लेब दर होने के बाद उपभोक्ताओं को बिजली खपत की पूरी जानकारी होगी. उन्होंने कहा है कि स्मार्ट प्रीपेड बिजली मीटर से पहले की तुलना में उपभोक्ताओं को लाभ हुआ है. पहले मीटर लगाने के पैसे लिए जाते थे जबकि अब कंपनी ने मीटर निःशुल्क कर दिए हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें