बिहार में कोरोना पर कंट्रोल कैसे?दिल्ली-मुंबई का नाम ले सेंट्रल टीम ने दिए सुझाव

Smart News Team, Last updated: 19/07/2020 07:41 PM IST
  • बिहार में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार की टीम हालात का जायजा लेने पटना पहुंची जहां आलाधिकारियों को कई जरूरी सुझाव दिए।
बिहार पहुंची केंद्रीय टीम

पटना. बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार की एक स्पेशल टीम राज्य के हालात का जायजा लेने पटना पहुंची है। केंद्रीय टीम ने स्वास्थ विभाग के आलाधिकारियों को राज्य में जांच के तरीके को बदलने, संक्रमितों की पहचान और उन्हें अलग करने के साथ इलाज की सुविधा मुहैया कराने का के सुझाव दिए हैं। केंद्रीय टीम का कहना है कि ऐसा करने पर ही तभी संक्रमण की स्थिति में परिवर्तन हो सकता है।

केंद्रीय टीम ने बताया कि दिल्ली और महाराष्ट्र ने केंद्र के सुझावों पर अमल कर हालात सुधारी है। जो पहले इन राज्यों की स्थिति थी वो आज बिहार की है। 

पटना: जरा सी जमीन के लिए घर की बहु को दे डाली ऐसी खौफनाक मौत, सास गिरफ्तार

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक में स्वास्थ्य संसाधनों को बढ़ाने पर भी चर्चा की गई। जिसके बाद केंद्रीय टीम के सदस्य मरीजों के इलाज की जानकारी लेने एनएमसीएच पहुंचे। साथ ही टीम ने कंकड़बाग स्थित आईसोलेशन सेंटर का भी जायजा लिया है।

हाय री बेदर्द किस्मत: बेटी-दामाद और नाती को रिसीव करने गए थे, मगर लेकर लौटे शव

मालूम हो कि स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने केंद्रीय टीम का नेतृत्व कर रहे हैं। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्र सरकार की एक टीम दिल्ली से पटना पहुंची है। टीम हालात का जायजा लेकर रविवार शाम को ही दिल्ली लौट जाएगी। संयुक्त सचिव लव अग्रवाल के साथ टीम में एम्स मेडिसन विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. नीरज निश्छल और नेशनल सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल के निदेशक डॉ. एसके सिंह भी शामिल है।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें