पटना

बिहार लॉकडाउन गाइडलाइंस: पटना में क्या खुलेगा क्या बंद, पढ़िए सरकार का आदेश

Smart News Team, Last updated: 14/07/2020 08:29 PM IST
  • राजधानी पटना समेत पूरा बिहार अब 16 जुलाई से 31 जुलाई तक पूर्ण रूप से लॉकडाउन रहेगा। पढ़िए लॉकडाउन के दौरान क्या खुलेगा क्या नहीं ? पढ़िए नीतीश सरकार की गाइडलाइन।
बिहार में फिर लॉकडाउन

पटना. राजधानी पटना में चल रहे 7 दिनों के लॉकडाउन के बीच बिहार में नीतीश कुमार सरकार ने 16 जुलाई से 31 जुलाई तक पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। सरकार ने राज्य में बढ़ते जा रहे संक्रमण के मामलों को देखते हुए यह फैसला किया है। डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। लॉकडाउन के दौरान जरूरी सेवाओं को छोड़कर हर तरह की गतिविधि पर रोक रहेगी। बिहार सरकार ने इस संबंध में गाइडलाइन भी जारी कर दी है। जानिए लॉकडाउन के दौरान राजधानी पटना समेत पूरे प्रदेश में क्या खुलेगा और क्या रहेगा बंद?

लॉकडाउन की घोषणा के बाद बिहार सरकार ने अधिसूचना जारी की है। पटना समेत पूरे प्रदेश में लॉकडाउन की अवधि के दौरान आपातकालीन सेवाओं को छोड़कर परिवहन सेवा, बाजार, शॉपिंग मॉल्स और धार्मिक संस्थान बंद रहेंगे। स्कूल-कॉलेज पहले से ही बंद हैं। सरकारी और प्राइवेट दफ्तर भी बंद रहेंगे।

कोरोना: पूरे बिहार में 16 से 31 जुलाई तक फिर लॉकडाउन, इमरजेंसी सेवा छोड़ सब बंद

फल-सब्जी सहित जरूरी सेवाओं से जुड़ी दुकाने सुबह और शाम के समय खोली जाएंगी। लॉकडाउन के दौरान कृषि और निर्माण कार्यों में पूरी छूट रहेगी। हालांकि, जिन्हें छूट मिल रही है उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग समेत सारे नियमों का पूरी तरह पालन करना होगा।  नीचे पढ़िए पूरी गाइ़डलाइन।

बिहार में 16 जुलाई से 31 जुलाई तक कोरोना लॉकडाउन

- आवश्यक सेवाओं को छोड़ बाकी सरकारी गैर सरकारी कार्यालय बंद रहेंगे

- जरूरी सामान वाली दुकानों की खोलने की अनुमति

- परिवहन सेवाओं पर भी बंदिश 

सेवाएं जो जारी रहेंगी

- टैक्सी और ऑटो चलेंगे, क्लिनिक, अस्पताल, दवा दुकान व जांच घर खुले रहेंगे

- ई- कॉमर्स, बैंक, बीमा संस्थान, केबल, दूरसंचारव व आईटी सेवाएं को भी छूट राशन, दुध, सब्जी, फल, मीट-मांस और पशुचारा की दुकानें खुली रहेंगी

- होटल-रेस्टूरेंट खुलेंगे, औद्योगिक और निर्माण गतिविधियां पहले की तरह चलेंगी निर्माण कार्य व कृषि से जुड़ी दुकानें भी खुलेंगी

इसकी इजाजत नहीं होगी

- व्यवसायिक, निजी प्रतिष्ठान, शिक्षण संस्थान, धार्मिक स्थल बंद रहेंगे

- सामाजिक, राजनीतिक, खेल-कूद, मनोरंजन, सांस्कृतिक और धार्मिक कार्यक्रमों के आयोजन पर भी रोक, बसों का परिचालन नहीं होगा

बता दें कि बिहार में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। मंगलवार दोपहर तक बिहार में 1432 नए मामले सामने आए जिसके साथ राज्य में संक्रमितों की संख्या 18 हजार 853 पहुंच गई। इनमें करीब 12 हजार 364 लोग पहले से स्वस्थ्य भी हो चुके हैं। 

नीतीश सरकार में मंत्री शैलेश कुमार कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

पटना हाईकोर्ट भी कोरोना की चपेट में है जहां सुरक्षा में तैनात डीएसपी समेत 19 जवान संक्रमित पाए गए हैं। वहीं राजधानी स्थित बिहार बीजेपी दफ्तर में भी 24 नेता कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। पटना डीएम दफ्तर के 14 लोग भी कोरोना मरीज निकले हैं।

पटना: BJP प्रदेश ऑफिस सील, पार्टी मीटिंग के बाद 24 नेता निकले कोरोना पॉजिटिव

हाईकोर्ट में कोरोना जांच में तीन और केस मिले हैं। राज्य के अपर मुख्य सचिव आमिर सुबहानी को भी कोरोना ने जकड़ लिया है जबकि गृह विभाग के अवर सचिव उमेश रजक की पटना एम्स में मौत हो गई है। पीएमसीएच के भी एक डॉक्टर की मौत हो गई है जबकि एनएमसीएच के कई जूनियर डॉक्टर पॉजिटिव पाए गए हैं।

राजधानी पटना की बात करें तो मंगवार की दोपहर तक 162 नए केस मिले हैं जिसके साथ ही जिले में कोरोना केस की संख्या बढ़कर 2281 हो गई है। इनमें 1167 लोग ठीक हो चुके हैं जबकि 18 की मौत हुई है। पटना में इस समय कोरोना के 1096 संक्रमित मरीज हैं।

अन्य खबरें