खुशखबरी! बिहार में स्कूली बच्चों को जल्द मिल सकता है स्मार्टफोन या टैबलेट, जानें डिटेल्स

Smart News Team, Last updated: Mon, 24th May 2021, 9:43 AM IST
  • बिहार शिक्षा विभाग ने सरकारी स्कूली बच्चों को स्मार्टफोन या टैब देने के लिए केंद्र सरकार के पास प्रस्ताव भेजा है. वहीं केंद्र की तरफ से मंजूरी मिलने के बाद इसे बिहार के बजट में शामिल करके बच्चों को डिजिटल डिवाइस ऑनलाइन पढाई करने के लिए दिया जाएगा.
खुशखबरी! बिहार में स्कूली बच्चों को जल्द मिल सकता है स्मार्टफोन या टैबलेट, जानें डिटेल्स

पटना. बिहार के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाली सभी बच्चों को डिजिटल डिवाइस के रूप में स्मार्टफोन या टैब मिल सकता है. जिसकी मदद से वह इस कोरोना माहमारी के बीच अपनी पढ़ाई जारी रख सकेंगे. जिसको लेकर बिहार शिक्षा विभाग ने केंद्र सरकार को ये प्रस्ताव भी भेजा है. जहां से मंजूरी मिलने के बाद इन बच्चों को पढ़ने के लिए टैब या स्मार्टफोन दिया जाएगा. 

आपको बता दे कि इस कोरोना माहमारी के बीच सभी स्कूलों की ऑनलाइन क्लास चलाई जा रही है. साथ ही दूरदर्शन और ई-प्लेटफार्म के जरिए उनकी पढ़ाई की निरन्तरता को बनाए रखने की कोशिश की गई थी, लेकिन कई बच्चों ये पास ये सभी सुविधाएं नहीं होने कारण उनकी पढ़ाई पिछले दो साल से बाधित है. जिसे देखते हुए ही बिहार सरकार ने केंद्र सरकार के सामने ये प्रस्ताव रखा है. 

बिहार सरकार का आदेश, कोरोना लॉकडाउन में मंत्रियों के भ्रमण पर लगी रोक

वहीं बिहार सरकार ने ये प्रस्ताव केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक के सामने 17 मई को वर्चुअल बैठक के दौरान रखी थी. साथ ही उन बच्चों को डिजिटल डिवाइस प्रदान करने की वकालत भी की थी. वहीं अगर इसपर केंद्र सरकार की तरफ से मंजूरी मिल जाती है तो इसे आने वाले 2021-22 के बजट में शामिल किया जाएगा. 

कोरोना वैक्सीन सर्टिफिकेट पर PM मोदी की फोटो को लेकर मांझी ने जताई आपत्ति

वहीं जानकारी के अनुसार बिहार में 1 से 12वीं तक के कक्षा में करीब दो करोड़ 10 लाख छात्र है. जिसमे से 1 से 8वीं तक ही 1.68 करोड़ बच्चे है. साथ ही 9 से 12वीं तक 42 लाख छात्र है. जिन्हें डिजिटल डिवाइस देने के लिए बड़ी धनराशि की जरूरत पड़ेगी. वहीं इसको लेकर 15 जून को भारत सरकार के प्रोजेक्ट अप्रूवल बैठक की जाएगी. तभी इस योजना पर निर्णय लिया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें