बिहार चुनाव में पप्पू यादव देंगे 80% युवाओं को टिकट, 100 में 30 कैंडिडेट महिलाएं

Smart News Team, Last updated: 28/08/2020 07:13 PM IST
  • बिहार में आगामी कुछ महीनों में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. इसके लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है. अब मैदान में पप्पू यादव की जन अधिकार पार्टी भी उतर आई है जो इस बार 243 विधान सभा सीटों में से  150 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. 
बिहार विधानसभा चुनावों के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस करते जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव

 पटना. इस बार बिहार विधान सभा चुनाव में जन अधिकार पार्टी 150 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. शुक्रवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व सांसद पप्पू यादव ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी घोषणा की. पप्पू यादव ने कहा कि पार्टी इस बार 150 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ेगी. जबकि बाकी सीटों पर सामान्य विचारधारा वाली पार्टियों के साथ गठबंधन कर चुनाव लड़ेगी.

पप्पू यादव ने कहा कि बिहार के हालात पर टीवी चैनलों पर सर्वे हुआ है जिसमें जन अधिकार पार्टी बिहार की लोगों की पहली पसंद है. इसके बाद ही पार्टी की कोर कमेटी की बैठक हुई . बैठक यह निर्णय लिया गया कि पार्टी इस बार 150 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

बिहार में लालू- तेजस्वी को कांग्रेस ने दिखाई आंख- पहले से काफी अधिक सीट लड़ेंगे

पप्पू यादव ने कहा कि हम पटना के सभी विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेंगे. केंद्र और राज्य दोनों में बीजेपी सरकार है. पटना के दोनों सांसद, ज्यादातर विधायक शहरी विकास मंत्री, मेयर सभी बीजेपी के हैं तब भी पटना देश का सबसे गंदा शहर है. जाप अध्यक्ष ने कहा कि यदि हम सत्ता में आए तो 3 सालों के अंदर ही पटना को एशिया का सबसे सुंदर शहर बनाएंगे। अभी तक हमने 40 विधानसभा क्षेत्रों में बूथ लेवल कमेटी तैयार कर ली है. जबकि आने वाले 2 हफ्तों में 60 और विधानसभा क्षेत्रों में हमारी बूथ लेवल कमेटी तैयार हो जाएगी. साथ ही सितंबर के अंतिम सप्ताह में पार्टी द्वारा उम्मीदवारों की घोषणा की जाएगी.

बिहार चुनाव पर SC का फैसला- कोरोना के कारण नहीं टलेंगे चुनाव, याचिका खारिज

पप्पू ने कहा कि अभी तक मैं 31 जिलों के 107 ब्लॉक और 476 का गांव में घूम चुका हूं . इस दौरान मैंने पाया कि जनता पिछले 30 साल से राज से परेशान हो चुकी है. अब जनता एक मजबूत विकल्प चाहती है जो बिहार का विकास करें. हमारी पार्टी ने यह तय किया है कि हम 80% टिकट युवाओं और 30% टिकट महिलाओं को देंगे. इसके अलावा हम किसी भी अपराधी को टिकट नहीं देंगे .

पटना में कोरोना का प्रकोप नहीं थमा, मिले 100 से अधिक कोविड केस

इस दौरान पप्पू यादव ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर भी जमकर हमला बोला. पप्पू ने कहा कि लॉकडाउन के बाद राज्य में जितने मजदूर वापस आए हैं उनमें से किसी को भी रोजगार नहीं मिला है. बिहार के अधिकतर मजदूर दूसरे राज्यों में काम करते हैं ऐसे में दूसरे राज्य के व्यापारी लग्जरी बस, प्लेन टिकट और 6 महीने का वेतन देकर मजदूरों को वापस बुला रहे हैं.इन 15 सालों में नीतीश कुमार ने राज्य में कुछ भी विकास नहीं किया है. उन्होंने कहा कि नीतीश गांधी मैदान में जनता के सामने अपराध, बाढ़, रोजगार, शिक्षा, स्वास्थ्य पर श्वेत पत्र जारी करें.

पटना: JEE और NEET परीक्षा के विरोध में बिहार कांग्रेस का आयकर गोलंबर पर प्रदर्शन

जेईई- नीट की परीक्षा पर पप्पू यादव ने विपक्षी पार्टियों से सवाल किया कि पार्टियां जेईई और नीट परीक्षा पर चुप क्यों है? आख़िर यह 45 लाख बच्चों की जिंदगी का सवाल है.

आपको बता दें कि पप्पू यादव बिहार में तीसरा मोर्चा बनाने की बात कह चुके हैं. लेकिन जीतनराम मांझी के एनडीए में जाने की खबरों के बाद उन्होंने बिहार की 243 विधानसभा में से 150 सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने का फैसला लिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें