बिहार चुनाव पहले चरण की 71 सीटों पर नामांकन पूरा, पालीगंज से सबसे ज्यादा दावेदार

Smart News Team, Last updated: 11/10/2020 12:35 PM IST
  • बिहार विधानसभा चुनावों के पहले चरण के लिए नामांकन प्रक्रिया बंद हो चुकी है. अब तक नामांकन पत्रों की जांच के बाद सबसे अधिक दावेदार पालीगंज सीट से मैदान में उतरें हैं.
प्रतीकात्मक तस्वीर

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए नामांकन भरने का काम अब बंद हो गया है. इसके साथ ही 12 अक्टूबर तक नामांकन भरे लोगों में से कोई भी अपना नाम वापस ले सकता है. इसके बाद ही 71 सीटों पर चुनावी गणित साफ होगी. वहीं नामांकन पत्रों की जांच करके नामांकन रद्द भी किए जा रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक नामांकन पत्रों की जांच होने तक के हिसाब से निर्वाचन विभाग के अनुसार पालीगंज में सर्वाधिक 28 तो गया टाउन में 27 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं. इनके नामांकन पत्र को वैध पाया गया है. वहीं, तारापुर में 26, अरवल में 24, गुरुआ में 23, शाहपुर में 23, टेकारी में 23, वजीरगंज व रजौली (सुरक्षित) में 22, सासाराम, करहगर और दिनारा में 20 प्रत्याशियों के नामांकन पत्रों को वैध पाया गया है. तो, दूसरी ओर , कटोरिया (सुरक्षित) विधानसभा क्षेत्र के लिए सबसे कम मात्र पांच उम्मीदवारों के नामांकन पत्र वैध पाए गए हैं. बता दें कि यहां केवल आठ नामांकन पत्र दाखिल किए गए थे, जिनमें से तीन रद्द कर दिए गए.

बिहार चुनाव: JDU ने मनोज कुशवाहा से सिंबल लिया वापस, मीनापुर से मिला था टिकट

कुल मिलाकर पहले चरण के 71 सीटों पर चुनाव को लेकर दाखिल 1354 नामांकन पत्रों की जांच के दौरान 264 नामांकन पत्रों को रद्द कर दिया गया. इनमें दस नामांकन पत्र ऑनलाइन भी दाखिल किए गए थे. नामांकन पत्रों की जांच के दौरान 1090 नामांकन पत्रों को वैध पाया गया. पहले चरण के चुनाव को लेकर नामांकन वापसी की अंतिम तिथि 12 अक्टूबर 2020 तक निर्धारित है. वहीं, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी संजय कुमार सिंह ने शनिवार को बताया कि दूसरे चरण के नामांकन को लेकर अबतक आठ नामांकन पत्र दाखिल हुए हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें