खुशखबरी! अत्यंत पिछड़ा वर्ग के छात्रों को जल्द मिलेगा मेधावृत्ति योजना का लाभ, खाते में आएंगे 10 हजार रुपए

Haimendra Singh, Last updated: Mon, 24th Jan 2022, 7:59 AM IST
  • अत्यंत पिछड़ा वर्ग के उन छात्रों को 10 हजार रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी, जिन्होंने हाईस्कूल की परीक्षा प्रथम श्रेणी में पास की हो. जिलाधिकारी इस योजना की मॉनिटरिंग करेंगे. बता दें कि 21 अक्टूबर 2021 को पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग ने 1530 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की थी.
अत्यंत पिछड़ा वर्ग के छात्रों को मिलेगा मेधावी योजना का लाभ.( प्रतीकात्मक फोटो )

पटना. बिहार के युवाओं के लिए अच्छी खबर है. बिहार सरकार ने राज्य के अत्यंग पिछड़ा वर्ग के छात्रों को मैट्रिक परीक्षा में प्रथम श्रेणी में पास होने पर मेधावृत्ति योजना के तहत दस-दस हजार रुपए लाभ देने का फैसला किया गया है. इसके लिए पिछड़ा एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग ने 21 अक्टूबर 2021 को 1530 करोड़ रुपए की स्वीकृति प्रदान की गई थी, इसके लिए अब जाकर शिक्षा विभाग ने शेष 14 करोड़ 55 लाख रुपए प्रदान किया हैं. शिक्षा विभाग के माध्यमिक शिक्षा निदेशालय ने विमुक्त राशि की सूचना बिहार महालेखाकार को भी दे दी गई है. सभी जिलों के जिलाधिकारी इसकी मॉनिटरिंग करेंगे.

आदेश में कहा गया है कि 2020-21 से पूर्व के बकाया प्रोत्साहन राशि के भुगतान के लिए स्वीकृत्यादेश को लेकर स्वीकृत 1530 करोड़ रुपए में से शेष 14.44 करोड़ रुपए मात्र की निकासी की जा रही है. बता दें कि इस योजना को लेकर विभिन्न आदेशों के माध्यम से 26369.6 लाख की स्वीकृति दी गई है और इसके विरुद्ध पूर्व में 24914.6 लाख की निकासी की जा चुकी है.

BSEB: बिहार बोर्ड ने जारी किया DELEd स्पेशल परीक्षा का रिजल्ट, ऐसे करें चेक

बीसी-1 कोटि के प्रथम श्रेणी से हाईस्कूल पास करने वालों को बिहार विद्यालय परीक्षा समिति से प्राप्त सूची के आधार पर आवश्यक वांछित प्रमाण पत्रों, जाति प्रमाण पत्र, प्रवेश पत्र, अंक पत्र, आवासीय प्रमाण पत्र, आधार संख्या एवं बैंक खाता संख्या की आवश्यक जांच के बाद राशि को खातों में भेजा जाएगा.

छात्रों के खाते में आएंगे पैसे

मेधावृत्ति योजना के जरिए अत्यंग पिछड़ा वर्ग के छात्रों को छात्रवृत्ति योजना का लाभ मिलेगा. इस योजना के जरिए मेधावी छात्रों को 10-10 हजार रुपए की प्रोत्साहन राशि मिलेगी. यह रकम सीधे छात्रों के खातों में भेजी जाएगी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें