राइजिंग स्टार हैं कन्हैया, किसी भी दल में जाएंगे चमकते रहेंगे- जीतनराम मांझी

Ankul Kaushik, Last updated: Sat, 2nd Oct 2021, 3:47 PM IST
  • बिहार के पूर्व सीएम व हम प्रमुख जीतनराम मांझी ने कांग्रेस में कन्हैया कुमार के शामिल होने पर अपना बयान दिया है. जीतनराम मांझी ने कहा है कि राइजिंग स्टार हैं कन्हैया कुमार, किसी भी दल में जाएंगे चमकते रहेंगे.
कन्हैया कुमार राइजिंग स्टार है- जीतन राम मांझी

लखनऊ. सीपीआई के पूर्व नेता और जेएनयू छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार के कांग्रेस में शामिल होने पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने बयान दिया है. हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के अध्यक्ष व पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने कहा है कि राइजिंग स्टार हैं कन्हैया कुमार, किसी भी दल में जाएंगे चमकते रहेंगे. मांझी का यह बयान बिहार की राजनीति में एक नया मुद्दा बन सकता है. क्योंकि मांझी की हम पार्टी एनडीए में शामिल है जो बीजेपी की सहयोगी पार्टी है. बता दें कि युवा राजनेता कन्हैया कुमार सीपीआई छोड़कर 28 सितंबर को कांग्रेस में शामिल हुए थे. कांग्रेस में शामिल होने पर कन्हैया ने कहा था कि आज के भारत को भगत सिंह के साहस, महात्मा गांधी की एकता और बीआर अंबेडकर की समानता की खोज की जरूरत है.

कन्हैया कुमार सीपीआई की राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य थे. कन्हैया के साथ जिग्नेश मेवाणी भी कांग्रेस में शामिल हुए थे. जिग्नेश मेवाणी गुजरात के वडगाम सीट से निर्दलीय विधायक हैं और राष्ट्रीय दलित अधिकार मंच (आरडीएएम) के संयोजक हैं. बता दें कि साल 2017 के गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी ने वडगाम सीट से मेवाणी के खिलाफ अपना उम्मीदवार नहीं उतारा था. शायद इसी वजह से जिग्नेश भी कांग्रेस में शामिल हुए हैं. कन्हैया कुमार साल 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले सीपीआई में शामिल हो गए थे और उन्होंने बिहार के बेगूसराय से बीजेपी नेता गिरिराज सिंह के खिलाफ चुनाव लड़ा था जिसमें वह हार गए थे.

जितनी जाति उतनी भागीदारी के लिए जाति जनगणना जरूरी- जीतन राम मांझी

इन दोनों युवा नेताओं के कांग्रेस में शामिल होने पर कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा हम इस देश पर शासन करने वाली फासीवादी ताकतों को हराने के लिए इन युवा नेताओं के साथ काम करने के लिए तैयार हैं. कन्हैया कुमार इस देश में अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता की लड़ाई के प्रतीक हैं और उन्होंने एक छात्र नेता के रूप में कट्टरवाद के खिलाफ लड़ाई लड़ी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें