पूर्व राज्यमंत्री विक्रम कुँवर का पदधिकारियों पर गंभीर आरोप- सिवान जिलें में एम्बुलेंस खरीदने के नाम पर घोटाला

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Jun 2021, 12:49 PM IST
  • बिहार के सिवान में वित्तीय वर्ष 2020-21 और 2021-22 में एम्बुलेंस खरीदने के नाम पर घोटाले का पता चला है. इन एम्बुलेंस की कीमत 7 लाख रुपये है, जबकि इन्हें लगभग 22 लाख रुपये में खरीदा गया है. इनके बिल में आरटीओ के खर्च को दो बार जोड़ा गया है.
बिहार के सीवान में एम्बुलेंस खरीदने के नाम पर पदधिकारियों ने किया घोटाला.( सांकेतिक फोटो )

बिहार: बिहार के पूर्व राज्यमंत्री वीरम कुँवर ने सीएम नीतीश कुमार को लिखे पत्र में दावा किया है कि सीवान जिले में 7 लाख रुपये की एम्बुलेंस को लगभग 22 लाख रुपये में खरीदा गया था. राज्य मंत्री ने दावा किया है. कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में सिवान के जिला योजना पदधिकारी के द्वारा मारुति ईको 5 ( maruti Eeco 5 ) एम्बुलेंस को खरीदा गया था. एम्बुलेंस के बिल को बढ़ाने के लिए इंश्योरेंस और आरटीओ के खर्च को दोगुना जोड़ा गया है. सीवान के जिलाधिकारी अमित कुमार पांडेय ने कथित घोटाले की जांच के लिए 3 सदस्यीय टीम का गठन किया है.

पूर्व राज्यमंत्री द्वारा लिखे गए पत्र में दावा किया गया है कि एम्बुलेंस के बिल में मॉनिटर मल्टीपैरामीटर ( monitor multi parameter) को लगभग एक लाख 18 हजार रुपये में खरीदा गया है, वहीं इंडिया मार्ट पर उसकी कीमत 30,950 रुपये है. इसके अलावा श्रीनल पंप ( sringle pump) को 69,440 रुपए, सक्शन मशीन पोर्टेबल (suction machine potable) को 33,600 रुपए और ट्रांसपोर्ट वेंटिलेटर ( transprot ventilator ) को 3,41,600 रुपए में खरीदा गया है. जबकि इंडिया मार्ट पर ही श्रीनल पंप की कीमत 30,950, सक्शन मशीन पोर्टेबल की 8,500 और ट्रांसपोर्ट वेंटिलेटर की कीमत 60,000 रुपए निर्धारित की गई है.

पटना: बंदूक सटाकर कारोबारी से 6 लाख रुपए और बाइक छीन बदमाश फरार, पुलिस जांच जारी

मुख्यमंत्री को लिखे पत्र में पूर्व राज्य मंत्री वीरम कुँवर ने बिहार सरकार से अनुरोध किया है कि 2020-21 एवं 2021-22 में खरीदी गई एम्बुलेंस को खरीददारी की जांच निष्पक्ष और ईमानदार पदधिकारियों से कराया जाए. साथ ही इस मामले में जो भी दोषी पाया जाता है, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए.

नीतीश सरकार आज कैबिनेट मीटिंग में ले सकती है पंचायत चुनाव को लेकर अहम फैसला

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें