पटना: 102 पर डायल करने से सरकारी और प्राइवेट दोनों एंबुलेंस की मिलेगी सुविधा

Smart News Team, Last updated: Tue, 29th Jun 2021, 12:19 PM IST
बिहार राज्य में एक ही नंबर (102) पर डायल करने से सरकारी और प्राइवेट दोनों एंबुलेंस की सुविधा दी जाएगी. परिवहन विभाग ने यह निर्णय सड़क दुर्घटनाओं में हो रही मौतों को कम करने के लिए लिया है. स्वास्थ्य विभाग परिवहन विभाग के इस निर्णय पर कार्रवाई भी शुरू कर दिया है.
एक आंकड़े के अनुसार बिहार में सड़क हादसे में मरने वाले लोगों की संख्या देश में सर्वाधिक है. (प्रतीकात्मक फोटो)

पटना : बिहार परिवहन विभाग ने सरकारी और प्राइवेट एंबुलेंस को लेकर एक बड़ा फैसला लिया है. परिवहन विभाग ने 102 पर कॉल करने पर पीड़ित मरीज को सरकारी और प्राइवेट दोनों ही एंबुलेंस की सुविधा देगा. बिहार परिवहन विभाग और राज्य स्वास्थ्य विभाग इस सेवा पर काम भी शुरू कर दिया है. परिवहन विभाग करीब 1000 प्राइवेट एंबुलेंस को सरकारी नंबर 102 से जोड़ने के प्रयास में है. साथ ही एंबुलेंस में ट्रेनिंग पाए हुए पैरामेडिकल और जान बचाने वाले जरूरी उपकरण की व्यवस्था की  जाएगी.

परिवहन विभाग सभी जिलों के स्वास्थ्य विभाग को 102 नंबर से जुड़े हुए सभी निजी एंबुलेंस गाड़ियों की जानकारी दे देगा. जिससे दुर्घटना स्थल पर तुरंत एंबुलेंस भेजी जा सके. इसके अलावा विभाग ने सरकार की ओर से जारी प्राइवेट एंबुलेंस के किराए को भी निर्धारित कर दिया है. ताकि कोई निजी एंबुलेंस अतिरिक्त किराया वसूली न सके. फिलहाल पूरे बिहार में करीब 1200 एंबुलेंस की सुविधा है. जिनमें 976 एंबुलेंस साधारण लाइफ सपोर्ट सिस्टम वाले हैं. वहीं 76 एडवांस वाले एंबुलेंस उपलब्ध है.

पटना: नगर निगम के ठेकेदार के 22 लाख रुपये लेकर ड्राइवर फरार, एफआईआर दर्ज

दरअसल बिहार में सड़क दुर्घटना में सर्वाधिक 72 फ़ीसदी लोगों की मौत हो जाती है. एक आंकड़े के अनुसार राज्य में करीब 10 हजार 7 सड़क दुर्घटनाएं में करीब 7 हजार 205 लोगों की मौत हुई. यह आंकड़ा देश में किसी दूसरे राज्य से सबसे अधिक है. अधिकतर मौतें अस्पताल समय पर न पहुंचने की वजह से होती है. साथ ही पूरे बिहार राज्य की आबादी के हिसाब से राज्य में एंबुलेंस की सुविधा भी कम है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें