बिहार में विपश्यना केंद्र ध्यान साधना के लिए कर्मचारियों को 15 दिन छुट्टी देगी नीतीश सरकार

Shubham Bajpai, Last updated: Fri, 22nd Oct 2021, 12:24 AM IST
  • बिहार विधानसभा के 100 साल पूरा होने के बाद आयोजित शाताब्दी समारोह में सीएम नीतीश कुमार ने सरकारी कर्मचारियों को लेकर बड़ा एलान किया है. सीएम ने कहा कि प्रदेश में किसी भी सरकारी कर्मचारी को विपश्यना केंद्र में साधना के लिए 15 दिन की छुट्टी राज्य सरकार द्वारा दी जाएगी.
CM नीतीश का निर्देश- सरकारी कर्मियों को विपश्यना केंद्र में साधना करने के लिए 15 दिन की छुट्टी

पटना. बिहार में अब विपश्यना केंद्र में साधना के लिए सरकारी कर्मचारियों को बिहार सरकार 15 दिन की छुट्टी देगी. इसका ऐलान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पटना में बिहार विधानसभा के 100 साल पूरे होने के मौके पर आयोजित शाताब्दी कार्यक्रम में किया. सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि विपश्यना केंद्र में जाने वाले अधिकारी व कर्मचारियों को सरकार 15 दिन का अवकाश देगी. वहीं, सीएम ने राष्ट्रपति के बुद्ध स्मृति पार्क जाने को लेकर कहा कि ये बड़ी खुशी की बात है कि शुक्रवार को राष्ट्रपति बुद्ध स्मृति पार्क और विपश्यना केंद्र को देखने जाएंगे.

सभी अधिकारी व कर्मचारी लें विपश्यना साधना का अनुभव

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि 3 जुलाई 2018 से बुद्ध स्मृति पार्क में विपश्यना केंद्र का संचालन हो रहा है. हम लोग चाहते हैं कि प्रदेश में जितने भी सरकारी अधिकारी व कर्मचारी है, उन्हें विपश्यना केंद्र जाकर उसका अनुभव लेना चाहिए. दस दिन तक चलने वाले इस कोर्स में अभी तक 1200 लोग हिस्सा ले चुके हैं.

गांव की राजनीति में मियां-बीवी का गठबंधन टूटा, पति से मुखिया का पंचायत चुनाव लड़ेगी पत्नी

कर्मचारियों को मिलेगी 15 दिन की छुट्टी

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि बुद्ध स्मृति पार्क में विपश्यना केंद्र बनाया गया है. इसमें शामिल होने वाले बिहार सरकार के अंतर्गत कर्मचारियों को सरकार की तरफ से 15 दिन का अवकाश मिलेगा. पटना जंक्शन के पास बुद्ध स्मृति पार्क में ये केंद्र चल रहा है. इसकी एडवांस बुकिंग होती है.

बदल जाएगा जूते-चप्पल और सैंडल का नंबर, पैरों की साइज का सर्वे करा रही है सरकार

क्या है विपश्यना

विपश्यना ध्यान की सबसे प्राचीन तकनीकों में से एक है. इसे ढाई हजार साल पहले गौतम बुद्ध ने फिर से खोजा था. इसका उद्देश्य मानसिक अशुद्धियों का पूर्ण उन्मूलन और पूर्ण मुक्ति के बाद का सुख है. भगवान बुद्ध ने इस साधना से ही बुद्धत्व प्राप्त किया था. अभी वर्तमान में चल रहे इनके केंद्रों में पहले से एडवांस बुकिंग लेनी होती है. जिसके बाद 10 दिन की साधना होती है, जिसमें केंद्र में ही आपको रहना होगा, यहां रहना और खाना पीना बिल्कुल फ्री होता है. इसके केंद्र देश विदेश में हर जगह चल रहे हैं.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें