बिहार सरकार का नया आदेश, स्कूल न आने वाले बच्चों के घर भेजे जाएंगे टीचर

Smart News Team, Last updated: Tue, 31st Aug 2021, 12:02 PM IST
  • बिहार में काफी महीनों से बंद स्कूल को  फिर से खोल दिया गया है. स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए स्कूल न आने वाले स्टूडेंट्स के घर टीचरों को भेजा जाएगा. 
बिहार सरकार का नया आदेश

पटना: बिहार शिक्षा विभाग ने सराहनीय कदम उठाया है. काफी महीनों से बंद स्कूलों को खुलने के बाद बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए स्कूल न आने वाले स्टूडेंट्स के घर टीचरों को भेजा जाएगा. बिहार सरकार का ये नया प्रयोग लोगों को काफी पसंद आ रहा है. शिक्षा विभाग ने अब सभी डीईओ और डीपीओ को आदेश दिया है कि राज्य के सरकारी स्कूलों में वैसे बच्चे जो लगातार स्कूल से 7 दिन ने नहीं आ रहे हैं, टीचर्स को जाना होगा. विद्यालय में बच्चों की नियमित उपस्थिति और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा उपलब्ध कराने के लिए विभाग ने सबकी जिम्मेवारी तय कर दी है.

75 फिसदी उपस्थिति को भरने के लिए विद्यालय प्रधान के साथ ही विद्यालय के सभी शिक्षक और संकुल संसाधन केंद्र समन्वयक को जिम्मेदार बताया गया है.यदि कोई छात्र एक सप्ताह तक लगातार स्कूल नहीं आ रहा हैं, तो प्रधानाध्यापक, शिक्षक उसके अभिभावक से संपर्क कर विद्यालय नहीं आने का कारण जानेंगे. इसके लिए रजिस्टर बनाने के अलग से आदेश दिए गए हैं. स्कूलों को कहा गया है कि सभी स्कूल अपने समय पर खोले जाएं. सभी टीचर अपने समय पर स्कूल आएं और समय से ही स्कूल से जाएं. किसी भी तरह की लापरवाही नहीं होनी चाहिए.

रांची: पीएम आवास में लापरवाही को लेकर नगर प्रबंधक समेत 12 अधिकारियों पर गिरी गाज

इसके अलावा स्कूल के प्रिसंपल को ये भी आदेश दिया गया है कि शिक्षकों के बीच जिम्मेदारी दी जाए कि बच्चों को कैसे स्कूल लाना है. वहीं स्कूलों में साफ-सफाई को लेकर भी हिदायत दी गई है. साथ ही ये भी कहा गया है कि स्कूल में शिक्षक मोबाइल का इस्तेमाल न करें. इससे शैक्षणिक कार्य में असर पड़ेगा. मालूम हो कि राज्य सरकार ने क्लास 1 से लेकर 12वीं तक के सभी स्कूलों को खोलने का आदेश दे दिया है और अब स्कूलों में शत प्रतिशत बच्चों को आने की भी अनुमति दे दी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें