अल्पसंख्यक समुदाय को रोजगार बढ़ाने के लिए बिहार सरकार देगी कर्ज

Shubham Bajpai, Last updated: Sat, 9th Oct 2021, 9:13 AM IST
  • बिहार में नीतीश सरकार मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की तर्ज पर अल्पसंख्यक समुदाय को रोजगार बढ़ाने को कर्ज देने जा रही है. इसके लिए सीएम नीतीश कुमार ने निर्देश जारी कर दिए है. इसका मकसद यह है कि अधिक से अधिक लोग कर्ज लेंगे और उनका रोजगार बढ़ेगा.
अल्पसंख्यक समुदाय को रोजगार बढ़ाने के लिए बिहार सरकार देगी कर्ज

पटना. अल्पसंख्यक समुदाय के लिए रोजगार के नए अवसर और उनके रोजगार को बढ़ाने के लिए नीतीश सरकार अल्पसंख्यक रोजगार ऋण योजना शुरू करने जा रही है. इस योजना में मुख्यमंत्री उद्यमी योजना की तर्ज पर अल्पसंख्यक समुदाय को कर्ज दिया जाएगा, जिससे वो अपना रोजगार बढ़ा सके. एक अणे मार्ग स्थित संकल्प में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक ली. इस बैठक में उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोगों को प्रेरित किया जाए कि वो कर्ज ले जिससे उनका रोजगार बढ़ेगा.

अल्पसंख्यक समाज की निरंतर होती रहे समीक्षा

सीएम नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक में कहा कि सरकार में आने के बाद से हम लगातार हर समाज की प्रगति के लिए काम कर रहे हैं. विशेषकर एससी एसटी, अति पिछड़ा वर्ग और अल्पसंख्यकों व महिलाओं के लिए विशेष योजनाएं चलाई गई हैं. सीएम ने बैठक में मौजूद अधिकारियों को निर्देश दिए कि अल्पसंख्यकों के लिए जो योजनाएं चलाई जा रही हैं, उनकी प्रगति को लेकर समीक्षा बैठक लगातार होती रहनी चाहिए ताकि इसका लाभ उन्हें मिलता रहे.

सड़क दुर्घटना में घायलों को अस्पताल पहुंचाने पर मिलेगी आर्थिक सहायता, बिहार मॉडल पूरे देश में होगा लागू

मदरसों में अपनाएं उन्नयन बिहार मॉडल

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि अल्पसंख्यक छात्रावास अनुदान योजना के तहत अल्पसंख्यक वर्ग के सभी समुदाय के स्टूडेंट्स को 15 किलो अनाज मिल सके, इसको सुनिश्चित करें. साथ ही अल्पसंख्यक वर्ग की महिलाओं को प्रशिक्षण देने की योजनाएं बनाएं. साथ ही विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए स्टूडेंट्स को मुफ्त कोचिंग की सुविधा जी जाए. सीएम ने कहा कि मदरसे उन्नयन बिहार मॉडल अपनाएं ताकि बच्चे बच्चियां अच्छे से अच्छी जानकारी ले सकें.

तेजप्रताप ने RJD के खिलाफ मोर्चा खोला, बोले- बिहार की महिलाएं माफ नहीं करेंगी

राज्य के सभी जिलों में कराएं वक्फ बोर्ड के बहुउद्देशीय भवनों का निर्माण

सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि प्रदेश के हर जिले में वक्फ बोर्ड के बहुउद्देशीय भवनों का निर्माण कराएं. सीएम ने निर्देश दिए कि अंजुमन इस्लामिया हॉल का काम फरवरी 2022 तक पूरा कराएं. जिससे लोग इसका उपयोग कर सकें और वक्फ बोर्ड की आमदनी का साधन हो.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें