बिहार सरकार की नई पहल, जन्म से हृदय रोग वालों का मुफ्त में होगा इलाज

Smart News Team, Last updated: Sun, 28th Feb 2021, 9:28 AM IST
  • बिहार में जन्‍म से ही हृदय रोग से पीड़ित बच्चे का पूरी तरह मुफ्त इलाज किया जाएगा. हार्ट पेशेंट्स के इलाज के लिए बिहार सरकार ने गुजरात की एक संस्‍था के साथ करार किया है. बिहार सरकार गुजरात की संस्था प्रशांती मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन के सहयोग से महंगे ऑपरेशन को मुफ्त करने की योजना बना रही है.
बिहार सरकार की नई पहल, जन्म से हृदय रोग वालों का मुफ्त में होगा इलाज

पटना. बिहार में अगर कोई बच्चा जन्म से ही हृदय रोग से पीड़‍ित है तो उस बच्चे के परिवार को अब महंगे इलाज और खर्च से घबराने की जरूरत नहीं है. बिहार सरकार गुजरात की संस्था प्रशांती मेडिकल सर्विसेज एंड रिसर्च फाउंडेशन के सहयोग से महंगे ऑपरेशन को मुफ्त करेगी. इसी के साथ इलाज के लिए गुजरात जाने-आने, रहने और खाने-पीने तक के सभी खर्च भी सरकार ही करेगी.

आइजीआइसी के निदेशक डॉ. सुनील कुमार ने शुक्रवार को जानकारी देते हुए कहा कि चार मार्च को इंदिरा गांधी हृदय रोग संस्थान (आइजीआइसी) और छह मार्च को इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान (आइजीआइएमएस) में शिविर लगाकर संस्था जन्मजात हृदय रोग से पीड़‍ित ऐसे बच्चों को चिह्नित करेगी, जिन्हें तुरंत ऑपरेशन की जरूरत होगी. 

सीएम नीतीश का ऐलान, जल्द होगी बिहार पुलिस में 10 हजार महिला कांस्टेबल की भर्ती 

इलाज का पूरा खर्च वहन करेगी सरकार

निदेशक डॉ. सुनील कुमार ने आगे बताया कि संस्थान में इलाज करा रहे सौ जन्मजात हृदय रोगियों के अलावा प्रचार-प्रसार से जानकारी मिलने पर आए करीब सवा सौ बच्चों की स्क्रीनिंग का लक्ष्य है. ईसीजी और ईको जैसी जांच रिपोर्ट देखने के बाद यह प्रशांती संस्था के विशेषज्ञ तय करेंगे कि तुरंत कितने बच्चों के उपचार को साथ ले जाएंगे. स्क्रीनिंग से लेकर सर्जरी व पूरे इलाज के अलावा घर वापस आने तक का पूरा खर्च राज्य सरकार वहन करेगी.

बिहार पंचायत चुनाव: सभी पदों के लिए नामांकन शुल्क तय, तारीखों का ऐलान जल्द

संस्थान के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. बीरेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि देश में हर वर्ष जन्मजात हृदय रोग के करीब डेढ़ लाख नए मामले सामने आते हैं. समय पर इनकी जांच नहीं होने से आधे से अधिक की मौत हो जाती है. इसका एक कारण आशंका नहीं होने के कारण उपचार में देरी के अलावा इलाज व सर्जरी का महंगा होना है.

जजों को सोशल मीडिया पर ट्रोल करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा: रविशंकर प्रसाद

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें