बिहार सरकार का फैसला- कोरोना उन्मूलन कोष में विधायक, पार्षद देंगे 2-2 करोड़ रुपए

Smart News Team, Last updated: 04/05/2021 02:28 PM IST
  • नीतीश सरकार ने कोरोना के खिलाफ जंग छेड़ दी है इसके लिए उन्होनें सख्त कदम उठाते हुए राज्य में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन घोषित कर दिया है. इसी के साथ कोरोना उन्मूलन कोष का गठन किया गया है. जिसमें विधायक और पार्षद दो-दो करोड़ रुपए देंगे.
बिहार सरकार का फैसला, कोरोना उन्मूलन कोष का गठन, विधायक, पार्षद देंगे 2-2 करोड़ रुपए.

पटना. बिहार में कोरोना का प्रकोप हर दिन भयंकर होता जा रहा है. कोरोना के खिलाफ जंग के लिए नीतीश सरकार ने एक्शन लेना शुरू कर दिया है. नीतीश सरकार ने सोमवार को हाइलेवल मीटिंग के बाद लॉकडाउन लगाने का फैसला भी लिया है. बिहार में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लगा दिया गया है. इसी के साथ कोरोना से लड़ने के लिए मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना की मदद ली जाएगी.

मुख्यमंत्री विकास योजना से आवश्यक निधि का प्रावधान किया जाएगा. इस योजना से मिली राशि को स्वास्थ्य विभाग में गठित कोरोना उन्मूलन कोष में जमा किया जाएगा. इस योजना में 2 करोड़ रुपए की राशि सभी विधायक और पार्षदों 2021-22 की अनुमान्यता राशि से विकास विभाग द्वारा बिहार स्वास्थ्य विभाग में बनाए गए कोरोना उन्मूलन कोष में दिया जाएगा.

बिहार सरकार का आदेश- बेमतलब बाहर निकलने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई

वहीं अगर विधायक चाहते हैं तो वह 2 करोड़ से ज्यादा की अनुशंसा मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना में डाल सकते हैं. 2021-22 में मिलने वाली राशि का इस्तेमाल कोरोना से जंग लड़ने में मददकारी साबित होगा. इसके लिए सभी सदस्यों को अपनी अनुशंसा अपर मुख्य सचिव योजना और विकास विभाग को करनी होगी.  

CM नीतीश कुमार का ऐलान- बिहार में 15 मई तक के लिए लगा पूर्ण लॉकडाउन

बिहार में कोरोना संक्रमण हर दिन डरावना होता जा रहा है. सोमवार को 174 लोगों की कोरोना की चपेट में आने के कारण मौत हो गई. 42 की मौत सिर्फ राजधानी पटना में हुई है जबकि बिहार के अन्य जिलों में 132 लोगों की मौत हुई थी. 

शादी में लगा 3 घंटे से ज्यादा समय या बुलाए 31 से ज्यादा मेहमान तो भरें जुर्माना 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें