10वीं के बाद ITI दिला सकता है तुरंत रोजगार, बिहार सरकार ने टाटा के साथ किया करार

Uttam Kumar, Last updated: Mon, 20th Dec 2021, 10:56 AM IST
  • 10वीं के बाद आईटीआई युवाओं के लिए एक अच्छा कोर्स हो सकत है. बिहार सरकार ने राज्य के सरकारी आईटीआई को अपग्रेड करने के लिए टाटा टेक्नॉलजी के साथ करार किया है. अपग्रेडेशन कार्यक्रम के तहत नए सत्र से आईटीआई में छह नए कोर्स प्रारंभ किए जाएंगे. आईटीआई युवाओं को रोजगार दिलाने में काफी मददगार है. 
बिहार सरकार ने ITI को अपग्रेड करने के लिए टाटा टेक्नॉलजी के साथ करार किया है.(फाइल फोटो)

पटना.  बिहार के सभी सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आइटीआइ) में को सेंटर आफ एक्सीलेंस बनाने की योजना पर तेजी से काम किया जा रहा है. इसके लिए राज्य सरकार द्वारा टाटा टेक्नॉलजी के साथ करार किया गया है. इसके तहत पहले चरण में राज्य में संचालित 60 सरकारी आईटीआई को अपग्रेड किया जाना है. इसके लिए 2188 करोड़ की जरूरत है. जिसका 88 प्रतिशत टाटा टेक्नॉलजी और 12 प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा.  इस योजना के तहत इस अगले सत्र से सरकारी आईटीआई में छह नए कोर्स आरंभ किए जाएंगे जो नई एडवांस टेक्नोलाजी पर आधारित होंगे. इनके पीछे सरकार का मुख्य उद्देश्य राज्य के युवाओं को बेहतर रोजगार दिलाना है. 

नए सत्र से आर्क वेल्डिंग व औद्योगिक रोबोटिक्स, इलेक्ट्रिक वाहन प्रशिक्षण, आइओटी और डिजिटल इंस्ट्रूमेंटेशन, मशीनिंग तथा विनिर्माण एडवाइजर, आइटी एवं डिजाइन, सभी प्रकार की मरम्मत और रखरखाव, आधुनिक प्लंबिंग जैसे कोर्स शुरू किए जाएंगे. आईटीआई कोर्स युवाओं को रोजगार दिलाने में काफी मददगार है. युवा को इस कोर्स करने के बाद सरकारी और निजी नौकरी का भी अवसर मिलेगा. यह कोर्स 10वीं पास करने के बाद ही किया जा सकता है. सरकारी आईटीआई में दाखिले के लिए बिहार राज्‍य संयुक्‍त प्रतियोगिता परीक्षा पर्षद(BCECE) द्वारा हर वर्ष प्रवेश परीक्षा आयोजित किया जाता है.  

बिहार सरकार ने CSBC में 365 पदों पर निकाली भर्ती, ऑनलाइन आवेदन शुरू

श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार के अनुसार युवाओं को रोजगार दिलाने के उद्देश्य से राज्य सरकार ने टाटा टेक्नॉलजी के साथ करार किया है. राज्य में संचालित सरकारी आइटीआइ के अपग्रेडेशन कार्य तेजी से किया जा रहा है. ताकि विद्यार्थियों को एडवांस टेक्नोलाजी की प्रशिक्षण सुविधा मिल सके. इस टेक्नोलाजी के तहत आइटीआइ में मशीन लर्निंग, इंटरनेट ऑफ थिंग्स, ग्राफिक डिजाइन,, रोबोटिक मेंटेनेंस, इलेक्ट्रिकल आदि की तकनीक में मशीनें लगाकर आइटी कंपनियों समेत अन्य इंडस्ट्री के सहयोग से राज्य के आइटीआइ को और उन्नत बनाया जाएगा. 

टाटा टेक्‍नोलाजी के साथ करार 

साल 2021 में फरवरी के महीने में राज्य के सरकारी आईटीआई को अपग्रेइ के लिए टाटा टेक्नॉलजी के साथ करार किया गया था. इसके तहत पहले चरण में 60 आईटीआई का चयन किया था. छात्रों को अब आनलाइन ट्रेनिंग के साथ-साथ फिजिकल ट्रेनिंग की व्यवस्था होगी. इसके लिए टाटा टेक्नोलाजी सभी आईटीआई को ट्रेनर के साथ सहयोग करेगी और इसके लिए जरूरी अपग्रेड टूल्स मशीनरी एवं पाठ्यक्रम बनाने में मदद करेगी. रजी सरकार की तरफ से  आईटीआई के प्रबंधन एवं संचालन के लिए प्रबंध समितियों का गठन अनिवार्य किया जा रहा है. ताकि सुचारु रूप से संचालन किया जा सके. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें