बिहार में दोबारा लॉकडाउन पर स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान, बोले-कोरोना के खिलाफ…

Smart News Team, Last updated: Thu, 1st Apr 2021, 12:14 PM IST
  • बिहार में एक बार फिर लॉकडाउन लगाने पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बड़ा बयान दिया है. स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि अबतक बिहार ने कोरोना महामारी के खिलाफ जंग में बाजी मारी है और इसके लिए आगे भी सतर्कता बरती जाएगी.
बिहार में लॉकडाउन लगाने को लेकर स्वास्थ्य मंत्री का बड़ा बयान.

पटना. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने राज्य में एक बार फिर लॉकडाउन लगाने को लेकर बड़ा बयान दिया है. स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि बिहार में अभी लॉकडाउन लगाने जैसे हालत नहीं हैं. राज्य में अभी 1500 कोविड संक्रमित हैं. मंगल पांडेय बुधवार को मीडिया से बातचीत में बताया कि कोरोना के खिलाफ जंग में बिहार ने बाजी मारी है. इसी के साथ आगे के लिए भी सतर्कता बरती जा रही है. 

बिहार स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने बताया कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग को 80 करोड़ रुपए दिए जाएंगे. इस राशि से करोना से निपटने के लिए विभिन्न आवश्यक सामग्री की खरीद की जाएगी. इसी के साथ कोरोना से निपटने के लिए विभाग अपनी तैयारियों को और मजबूत कर रहा है. स्वास्थ्य विभाग को दी जाने वाली राशि मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजना के तहत कोरोना उन्मूलन कोष से उपलब्ध कराई जा रही है.  

बिहार में वाहन फिटनेस प्रमाण पत्र की अतिरिक्त फीस घटी, नीतीश सरकार ने दी मंजूरी

स्वास्थ्य मंत्री ने जानकारी देते हुए बताया कि कोरोना महामारी की नई लहर ने एक बार फिर देश के कई हिस्सों में पैर पसारने शुरू कर दिए हैं. वहीं इसका असर बिहार में भी देखने को मिल रहा है. स्वास्थ्य मंत्री का कहना है कि कोरोना से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से तैयार है. महामारी पर काबू पाने के लिए टेस्टिंग भी तेज कर दी गई है. अस्पतालोंं को निर्देश दे दिए गए हैं कि कोरोना जांच ज्यादा से ज्यादा संख्या में की जाए. 

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने लोगों से अपील भी करते हुए कहा कि अपनी बारी आने पर कोरोना वैक्सीनेशन जरूर कराएं. इसको लेकर किसी अफवाह में ना आएं, ये पूरी तरह से सुरक्षित है. 

पंचायत चुनाव में कर्मचारी की कोरोना से मौत होने पर 30 लाख देगी नीतीश सरकार 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें