बिहार: स्मार्ट क्लास में संस्कृत और उर्दू की भी होगी पढ़ाई, हाईस्‍कूलों के लिए ई-कंटेट तैयार

Priya Gupta, Last updated: Sun, 19th Sep 2021, 8:39 AM IST
  • बिहार के हाई स्कूलों में 10वीं के स्टूडेंट्स के लिए संचालित स्मार्ट क्लास में अब संस्कृत और उर्दू की भी पढ़ाई होगी. इसके लिए चैप्टर भी तैयार कर लिया गया है.
स्मार्ट क्लास में संस्कृत और उर्दू की भी होगी पढ़ाई.( सांकेतिंक फोटो )

पटना: बिहार के हाई स्कूलों में 10वीं के स्टूडेंट्स के लिए संचालित स्मार्ट क्लास में अब संस्कृत और उर्दू की भी पढ़ाई होगी. इसके लिए चैप्टर भी तैयार कर लिया गया है. शिक्षा विभाग के अपर सचिव के निर्देश पर मैट्रिक-2022 में परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को सुविधा देने के लिए बिहार शिक्षा परियोजना परिषद की ओर से पाठ्य सामग्री तैयार की गई है. मैट्रिक में द्वितीय भारतीय भाषा के तौर पर संस्कृत और उर्दू की पढ़ाई होती है.

अभी तक स्मार्ट क्लास में इन दोनों विषयों की पढ़ाई नहीं हो रही थी. शिक्षा विभाग के मुताबिक, अभी राज्य के पांच हजार माध्यमिक विद्यालयों में स्मार्ट क्लास में गणित, विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, हिंदी और अंग्रेजी की कक्षाएं संचालित हो रही है. 2019 में उन्नयन बिहार कार्यक्रम के तहत इस स्मार्ट क्लास नौवीं एवं दसवीं के लिए शुरू की गई थी. हर विषय के चैप्टर का एनिमेशन तैयार किया गया था और इसी एनिमेशन के जरिए ही छात्र पढ़ाई करते थे.

मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की मुहिम- मुस्लिम शादियों में ना मंगनी, ना जूता चुराई, सिर्फ निकाह

लेकिन इसमें अब उर्दू और संस्‍कृत विषयों की पढ़ाई भी छात्र बड़े स्‍क्रीन पर कर सकेंगे. इस महीने के अंत तक संस्कृत एवं उर्दू विषय के लिए स्मार्ट क्लास शुरू कर दी जाएगी. इसमें मैट्रिक परीक्षार्थी को शिक्षक वीडियो के जरिए पढ़ाई कराएंगे. हर एक वीडियो 1 घंटे का होगा. इन वीडियो के ई-कंटेट बनाकर उसे पेन ड्राइव में करके सभी माध्यमिक स्कूलों को उपलब्ध कर दिया गया है. सभी शिक्षकों द्वारा हर विषय का चैप्टर वाइज इ-कंटेट तैयार किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें