बिहार: पचरुखिया जंगल में IED ब्लास्ट, दो जवानों की हालत गंभीर, पटना रेफर

Naveen Kumar, Last updated: Sat, 26th Feb 2022, 3:09 PM IST
  • औरंगाबाद जिले में पचरुखिया जंगल में शुक्रवार को हुए आइईडी धमाके में घायल सहायक कमांडेंट विभोर कुमार सिंह समेत एक अन्य जवान सुरेंद्र कुमार की गंभीर हालत होने के कारण एयर एंबुलेंस से पटना रेफर किया गया है.
फाइल फोटो

पटना. औरंगाबाद जिले में पचरुखिया जंगल में शुक्रवार को हुए आइईडी धमाके में घायल दो जवानों को पटना रेफर किया गया है. दोनों जवानों की हालत गंभीर बताई जा रही है. आइईडी हमले में कोबरा बटालियन के तीन जवान घायल हो गए थे, जिनको गया स्थित अनुग्रह नारायण मगध अस्पताल में भर्ती कराया गया था. घायल जवानों में सहायक कमांडेंट विभोर कुमार सिंह समेत एक अन्य जवान सुरेंद्र कुमार की गंभीर हालत होने के कारण एयर एंबुलेंस से पटना रेफर किया गया है. तीसरे घायल जवान सुमन पांडेय का इलाज मगध अस्पताल में जारी है. घटना के बाद से ही इलाके में सुरक्षा बलों ने सर्च ऑपरेशन चलाया हुआ है.

बता दें कि गया और औरंगाबाद जिले के सीमावर्ती इलाके में शुक्रवार को आइईडी धमाके हुए थे. इस दौरान सीआरपीएफ व कोबरा जवानों द्वारा लंगूराही-पंचरूखिया जंगली क्षेत्र में सर्च अभियान चलाया हुआ था. इसी दौरान एक के बाद एक चार आइर्डडी ब्लास्ट हो गए. घटना में सहायक कमांडेंट व हवलदार गंभीर रूप से घायल हो गए. दोनों को घायल अवस्था में एएनएमएमसीएच में भर्ती कराया गया. जहां से हेलीकॉप्टर से गया मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया. वहीं, धमाकों के बाद सुरक्षा बलों ने ​सर्च अभियान को तेज कर दिया है.

बिहार: खगड़िया में बम ब्लास्ट, 12 लोग घायल, कचरे में था बम, जांच में जुटी ATS

जानकारी के अनुसार, लंगुराही-पचरूखिया जंगल में एक महीने से सीआरपीएफ और कोबरा जवान कैंप लगा कर सर्च अभियान चला रहे हैं. इस इलाके में प्रतिबंधित भाकपा माओवादी नक्सलियों ने सीरियल आइईडी एवं प्रेशर बम लगा रखा है. नक्सलियों द्वारा घात लगाकर जवानों पर फायरिंग हमला शुरू कर देते हैं. आइईडी धमाके करते हैं. इससे पहले जनवरी और फरवरी के पहले सप्ताह में भी जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ हुई थी. उस दौरान कई आइईडी विस्फोट हुए थे. हालांकि उस दौरान जवानों को किसी तरह की क्षति नहीं पहुंची थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें