गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर रखा जाएगा कोईलवर पुल का नाम

Smart News Team, Last updated: 10/12/2020 03:00 PM IST
केंद्र सरकार ने कोईलवर पुल का नाम गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर रखने की घोषणा की है. नारायण सिंह ने पटना साइंस कॉलेज से पढ़ाई कर कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से पीएचडी की उपाधि प्राप्त की थी. पिछले साल ही बिहार में उनका निधन हुआ था.
कोईलवर पुल का नाम गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर रखा जाएगा

पटना. गुरुवार को केंद्र सरकार ने बिहार के लोगों को कोईलवर पुल के रूप में नई सौगात दी है. केंद्र सरकार द्वारा इस पुल का नाम महान गणितज्ञ वशिष्ठ नारायण सिंह के नाम पर रखे जाने की बात कही है.

आपको बता दें कि वशिष्ठ नारायण सिंह बिहार के जाने-माने गणितज्ञ रहे हैं. काफी साल तक मानसिक बीमारी से जूझ कर पिछले बार उन्होंने पटना में आखिरी सांस ली थी. पटना साइंस कॉलेज से कैलिफोर्निया विश्वविद्यालय का सफर उनकी प्रतिभा का ही नतीजा था. वर्ष 1969 में कैलिफोर्निया यूनिवर्सिटी से पीएचडी के बाद वे वॉशिंगटन विश्वविद्यालय में एसोसिएट प्रोफेसर बन गए. इसके बाद नासा में काम करके वे 1971 में भारत लौट आए.

दिल्ली पटना, यूपी बिहार का हाइवे सफर आसान, NHAI का नया कोईलवर पुल चालू

यहां उन्होंने आईआईटी कानपुर सहित दो अन्य संस्थानों में भी काम किया. इसके बाद उनकी जिंदगी में कुछ उतार-चढ़ाव के कारण यह महान प्रतिभा गुमनामी का शिकार हो गई. 40 साल तक सिजोफ्रेनिया नामक मानसिक बीमारी से पीड़ित रहकर पिछले साल उनका निधन हो गया. उनके निधन पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी गहरा शोक प्रकट किया था.

सर्वोच्च प्रदर्शन के लिए नीतीश सरकार ने दानापुर DCLR को सम्मानित किया

अब केंद्र सरकार ने बिहार में बने इस नए पुल का नाम उनके नाम पर रखने की घोषणा की है. आपको बता दें कि सिक्स लेन वाले इस पुल से कानपुर, वाराणसी, गाजीपुर से पटना जाना आसान हो जाएगा. इसके अलावा दिल्ली से पटना का सफर भी अब काफी सुहाना हो जाएगा. इस पुल के बनने से लोगों तो अब जाम की समस्या से नहीं जूझना पड़ेगा.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें