पटना

बिहार विधान परिषद की खाली हुई 9 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान, जानें पूरा शेड्यूल

Smart News Team, Last updated: 15/06/2020 05:52 PM IST
  • बिहार चुनाव से ठीक पहले विधान परिषद की खाली सीटों पर चुनावी की घोषणा हो चुकी है। चुनाव आयोग ने बिहार में विधान परिषद की पिछले छह मई को खाली हुए 9 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान कर दिया है।
Election Commission

बिहार चुनाव से ठीक पहले विधान परिषद की खाली सीटों पर चुनावी की घोषणा हो चुकी है। चुनाव आयोग ने बिहार में विधान परिषद की पिछले छह मई को खाली हुए 9 सीटों के लिए चुनाव का ऐलान कर दिया है। चुनाव आयोग ने इन खाली 9 सीटों के लिए 6 जुलाई को चुनाव की तारीख तय की है। बता दें कि कोरोना वायरस संकट की वजह से विधान परिषद की खाली सीटों के लिए चुनाव को अनिश्चितकाल के लिए टाल दिया था।

दरअसल, जिन विधान परिषद के नौ सदस्यों का कार्यकाल 6 मई को खत्म हुआ था, उनमें नीतीश सरकार में जेडीयू कोटे के भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी समेत विधान परिषद सदस्य और विधान परिषद के सभापति हारून रशीद हैं। इसके अलावा पूर्व मंत्री पीके शाही, सतीश कुमार, हीरा प्रसाद बिंद और सोनेलाल मेहता की सीट भी खाली हो गई है। ये सभी जेडीयू के नेता विधानसभा कोटे से विधान परिषद के सदस्य रहे हैं। वहीं, भारतीय जनता पार्टी की ओर से पार्टी के राष्ट्रीय मीडिया प्रभारी संजय प्रकाश, राधा मोहन शर्मा और कृष्ण कुमार सिंह की सीटें खाली हुईं हैं।

जानें विधान परिषद चुनाव के कार्यक्रम

  • नोटिफिकेशन जारी- 18 जून,
  • नोमिनेशन फाइल करने की आखिरी तारीख- 25 जून
  • स्क्रूटिनी -26 जून
  • चुनाव की तारीख 6 जुलाई(9 बजे से 4 बजे तक)
  • मतगणना की तारीख-6 जुलाई

10 सदस्यों का कार्यकाल 23 मई को समाप्त हो गया था

इससे पहले बिहार विधान परिषद के 10 सदस्यों का कार्यकाल 23 मई को समाप्त हो गया था। सभी सदस्य मनोनयन कोटे से थे। बिहार विधान परिषद के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब कुल संख्या में एक तिहाई से अधिक सीटें खाली हो गईं। 75 सदस्यीय इस सदन में कुल 29 सदस्यों का कार्यकाल 23 मई को समाप्त हो गया। 23 मई को जिन सदस्यों का कार्यकाल समाप्त हुआ, उसमें रामलषण राम रमण, राणा गंगेश्वर सिंह, जावेद इकबाल अंसारी, शिवप्रसन्न यादव, संजय कुमार सिंह उर्फ गांधीजी, रामवचन राय, ललन सर्राफ, रणबीर नंदन, विजय कुमार मिश्रा औऱ रामचन्द्र भारती शामिल हैं।

अन्य खबरें