रेप के आरोपों के बीच LJP सांसद प्रिंस राज ने युवती पर ब्लैकमेल कर पैसा मांगने का लगाया आरोप

Nawab Ali, Last updated: Thu, 23rd Sep 2021, 12:08 AM IST
  • बिहार के समस्तीपुर से सांसद प्रिंस राज ने दुष्कर्म के आरोपों को लेकर विशेष अदालत में अग्रिम जमानत की याचिका दायर की है. सांसद प्रिंस राज ने जमानत याचिका में आरोप लगाने वाली युवती पर ब्लैकमेलिंग कर पैसा मांगने का आरोप लगाया है.
एलजेपी सांसद प्रिंस राज ने युअवती पर ब्लैकमेलिंग का आरोप लगाया. (फाइल फोटो)

पटना. बिहार के समस्तीपुर से लोजपा सांसद प्रिंस राज ने दुष्कर्म आरोप मामले में राउज एवेन्यू स्थित विशेष न्यायाधीश विकास ढल की अदालत में प्रिंस ने अग्रिम जमानत की याचिका दायर की है. प्रिंस राज ने याचिका में दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली युवती पर उगाही करने का आरोप लगाया है. लोजपा सांसद प्रिंस राज की याचिका पर विशेष न्यायाधीश एमके नागपाल ने मामले की सुनवाई करने इंकार करते हुए निजी कारणों का हवाला दिया है. उन्होंने मामले को जिला न्यायाधीश को भेज दिया है.

बिहार के समस्तीपुर से लोजपा सांसद प्रिंस राज पर कुछ दिनों पहले एक युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाया था. सांसद प्रिंस राज ने दुष्कर्म मामले में विशेष अदालत में अग्रिम जमानत को लेकर याचिका दायर की थी. लेकिन विशेष न्यायाधीश एमके नागपाल ने निजी कारणों का हवाला देकर मामले से खुद को अलग कर लिया. प्रिंस राज के वकील ने अदालत में काह है कि आरोप लगाने वाली युवती और उसका साथी साल 2020 से ही ब्लैकमेल कर धन उगाही की कोशिश कर रहे हैं. महिला और उसका पुरुष मित्र प्रिंस राज से एक करोड़ रुपये की मांग कर रहे थे जिस पर पैसा ना देने के कारण फर्जी शिकायत दर्ज कराई गई. प्रिंस राज के वकील ने कहा है कि ब्लैकमेलिंग के मामले की शिकायत 10 फरवरी को संसद मार्ग पुलिस थाने में युवती और उसके पुरुष साथी के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई गई थी.

तेजस्वी यादव, मीसा भारती, मदन मोहन झा समेत 6 पर 5 करोड़ टिकट मामले में केस दर्ज

दुष्कर्म मामले में युवती ने प्रिंस राज के खिलाफ कोर्ट में प्राथमिकी दर्ज कराई थी जिसका संज्ञान लेते हुए कोर्ट ने पुलिस से कार्रवाई की रिपोर्ट तलब की थी. पुलिस ने कोर्ट में अपनी रिपोर्ट पेश कर कहा कि महिला की शिकायत में आरोपों के कोई तथ्य नहीं मिला है यह धन उगाही का मामला है. साथ ही कोर्ट में पुलिस ने कहा है कि आरोपी को हिरासत में लेने की जरुरत है ताकि पीडिता के आरोप के मुताबिक उस कथित वीडियो क्लिप को बरामद किया जा सके जिसमें आपत्तिजनक सामग्री है अदालत अब इस मामले को गुरुवार को सुनवाई करेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें