बिहार लॉकडाउन: बैंड-बाजा-बारात के बिना शादी, 3 दिन पहले थाने में देनी होगी सूचना

Smart News Team, Last updated: 05/05/2021 11:18 AM IST
  • बिहार में कोरोना की चेन को तोड़ने के लिए 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन घोषित कर दिया गया है. लॉकडाउन के दौरान शादी-पार्टी के लिए गाइडलाइंस जारी कर दी गई हैं. सिर्फ 50 मेहमानों के साथ बिना बैंड बाजे के शादी करनी होगी. तीन दिन पहले पुलिस थाने में शादी की जानकारी देनी होगी.
बिहार लॉकडाउन में शादी करने के लिए तीन दिन पहले थाने में सूचना देनी होगी.

पटना. नीतीश सरकार ने बिहार में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लगाने का फैसला किया है. कोरोना संक्रमण के भयंकर रूप को को देखते हुए यह फैसला लिया गया है. बिहार में लॉकडाउन के लिए गाइडलाइंस भी जारी कर दी गई हैं. बिहार में अगर आपके घर शादी समारोह है तो उसमें 50 लोगों को ही शामिल होने की अनुमति मिलेगी. शादी समारोह के लिए यह भी निर्देश दिए गए हैं कि किसी भी तरह से डीजे या बारात की इजाजत नहीं दी जाएगी. वहीं शादी की जानकारी कम-से-कम तीन दिन पहले थाने में देनी होगी. वहीं अंतिम संस्कार और श्राद्धकर्म में सिर्फ 20 लोगों को शामिल हो सकेंगे.

बिहार में रेस्टोरेंट और खाने की दुकानें लॉकडाउन के दौरान बंद रहेंगी. इनका संचालन सिर्फ होम डिलीवरी के लिए किया जा सकता है. सुबह नौ बजे से रात नौ बजे तक ही होम डिलीवरी की अनुमति दी गई है. वहीं नेशनल हाइवे पर स्थित ढाबों पर भी बैठकर खाने की अनुमति नहीं है सिर्फ टेमहोम के आधार पर वह संचालन कर सकते हैं. इसी के साथ सभी स्कूल, कॉलेज, कोचिंग संस्थान बंद रहेंगे. राज्य में कोई भी विद्यालय और विश्वविद्यालय किसी तरह की परीक्षाएं आयोजित नहीं कराएगा. 

बिहार लॉकडाउन में निजी वाहन चलाने की छूट लेकिन ई-पास जरूरी, ऐसे करें आवेदन

जरूरी खाने-पीने की दुकानें सुबह 7 बजे से लेकर 11 बजे तक ही खोली जाएंगी. राशन, फल-सब्जी, दूध, मांस-मछली और पीडीएस की दुकानों को दिन के 11 बजे तक ही खोला जा सकेगा. वहीं सब्जी और फल ठेले पर घूमकर पूरे दिन बेचा जा सकता है.

अंतराज्जीय मार्गों पर दूसरे राज्यों को जाने वाले निजी वाहनों को छूट दी गई है. साथ ही राज्य में भी निजी वाहन ई-पास के जरिए आ-जा सकेंगे. हवाई जहाज और ट्रेन की टिकट के साथ निजी वाहन से यात्रा कर सकेंगे. ई-कॉमर्स और कूरियर की सेवाओं पर रोक नहीं लगेगी. 

तेजस्वी का आरोप- बिहार में कोरोना टेस्टिंग बढ़ाने की जगह घटा रही है नीतीश सरकार 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें