पटना में बुधवार से खुलेंगे बाजार, जानें किस दिन कौन-सी दुकान खुलेगी?

Smart News Team, Last updated: Tue, 1st Jun 2021, 11:51 PM IST
  • पटना में दो जून से अलग-अलग समूहों की दुकानें अलग-अलग दिन खुलेंगी. पटना जिलाधिकरी ने दुकानों के खुलने की लिस्ट जारी कर दी है. पटना में दुकानें सुबह 6 बजे से दो बजे तक दुकानों के खुलने का समय तय किया गया है.
पटना डीएम ने अलग-अलग दिन खुलने वाली दुकानों की लिस्ट जारी की.

पटना. कोरोना संक्रमण के बीच बिहार की राजधानी पटना में बुधवार से बाजार खुलेंगे. बिहार सरकार के आदेश पर पटना जिलाधिकारी डॉ. चन्द्रशेखर सिंह ने अलग-अलग दिन और रोज खुलने वाली दुकानों की लिस्ट जारी की है. जिसके मुताबिक, ये दुकानें सुबह 6 बजे से दोपहर दो बजे तक खुली रहेंगी. मेडिकल, अस्पताल जैसे बहुत जरूरी चीजों पर ये नए नियम लागू नहीं होंगे.

पटना जिलाधिकारी के आदेश के अनुसार, दो जून से किराना की दुकान, फल-सब्जी मंडी, डेयरी, अनाज मंडी, मीट और मछली की दुकान हर रोज सुबह 6 बजे से दोपहर के दो बजे तक खुलेगी. इसके अलावा पीडीएस की दुकानें, पशु चारा, उर्वरक, बीज, कीटनाशक, कृषि यंत्रों से संबंधित दुकान, पेट्रोल पंप और गैस एजेंसी भी रोजाना खुलेगी.

बिहार: कोरोना काल में अब इस समय तक खुलेंगे बैंक, समय में फिर हुआ बदलाव

राजधानी पटना में दो जून से सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को इलेक्ट्रिकल गुड्स, पंखा, कूलर, एसी, मोबाइल, कंप्यूटर, लैपटॉप, यूपीएस और बैटरी की दुकानें खुलेंगी. इसके अलावा सैलून, पॉर्लर, गैरेज, ऑटोमोबाइल्स, टायर-ट्यूब्स, वाहन प्रदूषण जांच केन्द्र, साईकिल की दुकान, फर्नीचर की दुकानें, स्टेशनरी और सौंदर्य प्रसाधन की दुकानें भी हर सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को खुली रहेंगी. बाकी दिन ये दुकानें बंद रहेंगी.

नीतीश कुमार सरकार का फैसला, 15 जून तक डॉक्टरों-मेडिकल स्टाफ की छुुट्टियां रद्द

पटना डीएम के आदेश के अनुसार, हर मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को कपड़ा की दुकानें, बर्तन की दुकान, सोना-चांदी की दुकान, ड्राई क्लीनर्स की दुकान, स्पोटर्स की दुकान, जूता-चप्पल की दुकान सुबह 6 बजे से दोपहर 2 बजे तक खुलेंगी. इसक अलावा निर्माण से संबंधित, सीमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, गिट्टी, सीमेंट ब्लॉक, ईंट, प्लास्टिक पाइप, हार्डवेयर, सैनिटरी फिटिंग, लोहा, पेंट और शटरिंग की दुकानें हर मंगलवार, गुरुवार और शनिवार को खुलेगी.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें