बिहारः गांधी सर्किट से जोड़ा जाएगा मुजफ्फरपुर, पर्यटन मंत्री ने दिया आश्वासन

Sumit Rajak, Last updated: Tue, 8th Mar 2022, 8:14 AM IST
  • मुजफ्फरपुर को गांधी सर्किट से जोड़ा जाएगा. पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद ने सोमवार को विधान परिषद में यह आश्वासन दिया. नारायण प्रसाद रामचंद्र पुर्वे ने चंपारण सत्याग्रह के दौरान और अन्य मौके पर राज्य के जिन-जिन स्थानों पर महात्मा गांधी गए थे, उन स्थानों को जोड़कर गांधी सर्किट का निर्माण करने की मांग की थी.
फाइल फोटो

मुजफ्फरपुर. बिहार के मुजफ्फरपुर को गांधी सर्किट से जोड़ा जाएगा. पर्यटन मंत्री नारायण प्रसाद ने सोमवार को विधान परिषद में यह आश्वासन दिया. नारायण प्रसाद रामचंद्र पुर्वे की ओर से लाए गए गैर सरकारी संकल्प पर सरकार की ओर से बोल रहे थे. पु्र्वे ने चंपारण सत्याग्रह के दौरान तथा अन्य मौके पर राज्य के जिन-जिन स्थानों पर महात्मा गांधी गए थे, उन स्थानों को जोड़कर गांधी सर्किट का निर्माण करने की मांग की थी. पर्यटन मंत्री के आश्वासन के बाद पुर्वे ने गैर सरकारी संकल्प वापस ले लिया. 

विधान पार्षद राम ईश्वर महतो ने सम्राट अशोक की जयंती पर बिहार की तरह देशभर में अवकाश घोषित करने की सिफारिश केंद्र सरकार से करने की मांग गैर सरकारी संकल्प लाकर की. इस पर सरकार की ओर से बोलते हुए उर्जा मंत्री विजेंद्र यादव  ने कहा कि राज्य सरकार इस पर विचार करने के बाद यथोचित पहल करेगी. 

मुजफ्फरपुर में मछली मारने पर विवाद, पैक्स अध्यक्ष समेत भाई की गोली मारकर हत्या

 गुलाम गौस ने खेद जताया

विधान पार्षद गुलाम गौस तालिमी मरकजों की संख्या  बढा़ए जाने के बारे में अपने गैर सरकारी संकल्प पर बोल रहे थे.अवधेश नारायण सिंह ने उन्हें भाषण समाप्त करने के लिए कहा.इस पर गुलाम गौस ने कहा कि बार-बार उनके साथ ऐसा होता है. कम समय दिया जाता है. इस पर सभापति ने नाराजगी जताई. संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने भी हस्तक्षेप किया. बाद में गुलाम गौस के खेद जताने पर मामला शांत हुआ. 

डॉ. प्रभात को पद्मश्री देने की होगी अनुशंसा 

विधान पार्षद केदार पांडेय ने बिहार के चर्चित कार्डियोलॉजिस्ट रहे प्रभात कुमार को पद्मभूषण सम्मान देने कि अनुशंसा करने मांग की.इसपर संसदीय कार्य मंत्री विजय कुमार चौधरी ने इस जरूरी बताया. उन्होंने कहा कि पिछली बार की तरह इस बार भी बिहार सरकार केंद्र सरकार से इस बारे में अनुशंसा करेगी. 

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें