बिहार में खाद-बीज के डीलरों को लेना होगा लाइसेंस, नीतीश सरकार ने जारी किया आदेश

Smart News Team, Last updated: 08/02/2021 07:28 AM IST
  • बिहार में अब खाद, बीज व कीटनाशी के डीलरों को माप-तौल के लिए लाइसेंस लेना होगा. नीतीश सरकार ने घटतौली रोकने के लिए यह कदम उठाया है. कृषि विभाग ने इस संबंध में निर्देश दिया है. 
बिहार में अब खाद, बीज व कीटनाशी के डीलरों को माप-तौल के लिए लाइसेंस लेना होगा.

पटना. बिहार में अब खाद, बीज व कीटनाशी के डीलरों को माप-तौल के लिए राज्य सरकार से लाइसेंस लेना होगा. जो जैविक खाद की व्यावसायिक इकाई लगाना चाहते हैं और जो इस व्यापार से जुड़े डीलर हैं उन्हें भी लाइसेंस लेना होगा. इसके साथ ही, पुराने डीलरों को भी तीन महीने के अंदर माप-तौल के लिए लाइसेंस लेना होगा. कृषि विभाग ने इस संबंध में निर्देश जारी कर दिया है.

राज्य में खाद, बीज और कीटनाशी के व्यापार में चल रही गड़बड़ी को लेकर कृषि विभाग ने नकेल कसना शुरू कर दिया है. कालाबाजारी रोकने के लिए सरकार ने पहले से ही निर्देश जारी किया है, अब सरकार ने घटतौली को रोकने के लिए जरूरी कदम के रूप में लाइसेंस व्यवस्था अनि उठाया है.

यूपी विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश की जेडीयू पंचायत इलेक्शन में आजमाएगी किस्मत

नई व्यवस्था के तहत डीलर कंपनी से आए सील बोरे को तोड़कर उसमें से खाद नहीं निकाल पाएगा और न ही बीज व्रिकेता माप-तौल में कोई गड़बड़ी कर सकेंगे. अगर इस तरह की शिकायत कृषि विभाग को मिलती है तो खाद-बीज विक्रेता पर कार्रवाई होगी. कृषि विभाग की तरफ से जारी यह निर्देश सभी छोटे-बड़े व्यापारियों या विक्रेताओं पर लागू होगा.

बिहार विधानसभा को सौ साल पूरे, CM नीतीश कुमार ने किया शताब्दी समारोह कार्यक्रम का उद्घाटन

कृषि निदेशक डीपी त्रिपाठी ने सभी जिला कृषि पदाधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिया है. उन्होंने कहा है कि इस निर्देश को कड़ाई से लागू किया जाए. साथ ही पुराने डीलरों को सूचना देने की जिम्मेदारी जिला कृषि पदाधिकारियों को सौंपी गई है. इससे पहले कृषि विभाग ने लाइसेंसिंग प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए ऑनलाइन आवेदन की व्यवस्था की है. 31 जनवरी, 2021 के बाद से ही खाद, बीज व कीटनाशी के लाइसेंस के लिए आए ऑफलाइन आवेदन पर विचार नहीं किया जा रहा है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें