बाबुओं के भ्रष्टाचार पर नीतीश सख्त, सालाना संपत्ति नहीं बताने पर अधिकारियों पर केस

Smart News Team, Last updated: Wed, 30th Jun 2021, 4:11 PM IST
बिहार की मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार ने भ्रष्टाचार पर लगाम लगाने के लिए एक निर्देश सभी विभागों को भेजा है. जिसके अनुसार अब हर साल सरकारी कर्मचारियों को अपनो सम्पत्ति और दायित्व की जानकारी सरकार को देना होगा. वहीं ऐसा नहीं करने वालों पर सरकार अनुशासनिक कार्रवाई के साथ मुकदमा भी दर्ज करेगी.
बाबुओं के भ्रष्टाचार पर नीतीश सख्त, सालाना संपत्ति नहीं बताने पर अधिकारियों पर केस

पटना. बिहार में बढ़ते भ्रष्टाचार को देखते हुए सत्ताधारी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की सरकार सख्त रवैया अपनाने जा रही है. जिसके लिए बिहार के प्रमुख सचिव त्रिपुरारी शरण ने सभी विभागों और कर्मचारियों को निर्देश भी दे दिया हैं. जिसमें कहा गया है कि सभी सरकारी कर्मचारी हर साल अपनी सम्पत्ति और दायित्व की जानकारी सरकार को देंगे. वहीं इसमें यह भी कहा गया है कि ऐसा नहीं करने पर उनपर केस किया जाएगा. 

इतना ही नहीं बिहार प्रमुख सचिव द्वारा सभी विभागों और उनके कर्मचारियों को दिए गए निर्देश में और भी बहुत चीजों को लेकर अवगत कराया गया है. इस निर्देश में लिखा है कि जो भी सरकारी कर्मचारी सरकार के निर्देश का पालन नहीं करेगा. उनके खिलाफ अनुशासनिक कार्रवाई किया जाएगा. साथ ही साथ इनपर आपराधिक मामले भी दर्ज किए जाएंगे. प्रमुख सचिव ने यह निर्देश सभी विभागों के उच्च अधिकारियों को पत्र लिखकर भेजा हैं. साथ ही निर्देश का पालन सुनिश्चित करने को कहा है.

शिक्षक बहाली सही तरीके से हो, तो सभी एसटीईटी अभ्यर्थियों मिल सकता है नौकरी का मौका

दरअसल बिहार में पिछले और इस साल कई ऐसे अधिकारी और कर्मचारी मिले है. जिनकी आय से अधिक सम्पत्ति मिली है. साथ ही उनपर विजिलेंस टीम ने रेड मारकर आय से अधिक सम्पत्ति होने को पुख्ता भी किया है. जिसे देखते हुए ही नीतीश सरकार ने हर साल सरकारी कर्मचारियों से अपनी संपत्ति और दायित्व की जानकारी सरकार को देने का निर्देश दिया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें